Yo Diary

भारत ने PAK के उप-उच्चायुक्त को किया तलब, सीजफायर उल्लंघन पर जताया कड़ा विरोध

नई दिल्ली भारत ने सोमवार को पाकिस्तान के उप-उच्चायुक्त को तलब किया और पाकिस्तानी सुरक्षा बलों की ओर से ‘‘बगैर किसी उकसावे के की गई फायरिंग’’ में पांच आम लोगों के मारे जाने पर कड़ा विरोध दर्ज कराया. भारत ने फायरिंग की इस घटना को ‘‘बेहद निंदनीय’’ करार दिया. विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान के उप-उच्चायुक्त सैयद हैदर शाह से यह भी कहा गया कि ऐसे जघन्य कृत्य स्थापित मानवीय मानकों और पेशेवर सैन्य व्यवहार के खिलाफ हैं.

भारत ने जताया कड़ा विरोध

मंत्रालय ने कहा, ‘‘ यह बताया गया कि अग्रिम रक्षा पंक्ति से दो किलोमीटर की दूरी पर रहने वाले निर्दोष आम लोगों को पाकिस्तानी बलों द्वारा भारी क्षमता वाले हथियारों का इस्तेमाल कर जानबूझकर निशाना बनाना बहुत निंदनीय है और कड़े शब्दों में इसकी निंदा की जाती है.’’

विदेश मंत्रालय ने कहा कि शाह को साउथ ब्लॉक तलब किया गया और जम्मू- कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पार भीमबेर गली सेक्टर में 18 मार्च 2018 को पाकिस्तानी सुरक्षा बलों की ओर से बगैर उकसावे के किए गए संघर्षविराम उल्लंघन में पांच निर्दोष आम लोगों (एक दंपति और तीन बच्चों) के मारे जाने और दो अन्य नाबालिग बच्चों के जख्मी होने पर कड़ा विरोध दर्ज कराया.

रविवार को भारत ने पाक को जारी किया था ‘नोट वर्बेल’

इससे पहले भारत ने पाकिस्तान में तैनात अपने राजनयिकों को 'धमकाने और परेशान किए जाने' के विरोध में इस्लामाबाद स्थित अपने उच्चायोग के जरिए पाकिस्तान को एक और‘ नोट वर्बेल’ ( राजनयिक नोट) जारी किया. तीन महीने से भी कम समय में भारत ने पाकिस्तान को 13 वीं बार ‘नोट वर्बेल’ जारी किया है.

रविवार को भारत ने पाक को जारी किया था ‘नोट वर्बेल’

सरकारी सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान विदेश मंत्रालय को भेजे गए नोट में भारतीय उच्चायोग ने अपने राजनयिकों को परेशान करने के तीन मामलों का जिक्र किया है जिसमें एक मामला भारतीय उच्चायोग में तैनात द्वितीय सचिव से जुड़ा है. रविवार को एक कार में सवार अज्ञात लोगों ने आक्रामक तरीके से उस वक्त द्वितीय सचिव का पीछा किया जब वह एक रेस्तरां में जा रहे थे. सूत्रों ने बताया कि मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर वीडियो बनाया गया.