Yo Diary

आखिरी ओवर में बवाल के बाद बांग्लादेश को मिली जीत, फिर हुआ नागिन डांस

निधास टी20 ट्राई सीरीज़ का छठा और अंतिम लीग मैच मेजबान श्रीलंका और बांग्लादेश के लिए 'करो या ​मरो' वाला था और अंतत: यह ऐसा ही हुआ. मैच के आखिरी ओवर में श्रीलंका को 12 रन बनाने थे लेकिन इस दौरान जो हुआ वो हैरान करने वाला था.

दरअसल, श्रीलंकाई कप्तान तिसार परेरा ने आखिरी ओवर डालने की जिम्मेदारी बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ इसरू उडाना को सौपी. उनकी पहली बॉल जो कि शॉर्ट डिलीवरी थी को मुस्ताफिजुर रहमान खेल नहीं पाए और बॉल विकेटकीपर के दस्ताने में चली गई. उडाना की अगली बॉल बाउंसर थी जिसे एक बार फिर रहमान नहीं खेल पाए लेकिन वह एक रन के लिए दौड़ पडे. इस दौरान वह रन आउट हो गए. इसके बाद रहमान ने अंपायर से बॉल के कंधे से ऊपर होने की बात कहते हुए नॉ बॉल दिए जाने की मांग की, लेकिन अंपायर ने उनकी इस बात को खारिज कर दिया. इस वक्त बांग्लादेश को मैच जीतने के लिए चार बॉल पर 12 रन की जरूरत थी.

लेकिन बवाल उस वक्त मचा जब बांग्लादेश के कप्तान शाकिब-अल-हसन जो कि बाउंड्री के पास खड़े थे वो तीसरे अंपायर से भिड़ गए. उन्होंने ना सिर्फ अंपायर से बहस की बल्कि मैदान में मौजूद मुस्ताफिजुर रहमान और महमदुल्लाह को वापस बुलाने का इशारा भी कर दिया. हालांकि मैच और मौके की नजाकत को देखते हुए बांग्लादेश के कोच खालिद महमूद ने महमदुल्लाह को बाउंड्री लाइन से वापस खेलने के लिए भेजते हुए कहा,' वापस जाओ और मैच को फिनिश करके आओ.'

आखिरकार महमदुल्लाह ने उडाना की तीसरी बॉल पर चौका, चौथी बॉल पर दो रन और पांचवीं बॉल पर छक्का जड़कर अपनी टीम को रोमांचक मैच में दो विकेट से जीत दिला थी. बवाल के बाद अगर दोनों बल्लेबाज़ कप्तान शाकिब के कहने पर पवेलियन लौट आते तो बांग्लादेश की टीम टूर्नामेंट से डिसक्वालीफाइड हो जाती. वैसे बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने इस जीत का जश्न नागिन डांस करके मनाया.

बहरहाल, अगर बांग्लादेशी कप्तान और खिलाड़ियों की अंपायर्स से नौकझोंक की शिकायत मैच रेफरी आईसीसी से करते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई हो सकती है. वैसे मैच के बाद बांग्लादेश के कप्तान शाकिब ने श्रीलंकाई खिलाड़ियों को अपना दोस्त बताकर मामले को नॉर्मल करने का प्रयास किया. जबकि श्रीलंकाई कप्तान तिसारा परेरा ने भी इस बात को कोई ख़ास महत्व नहीं दिया. उन्होंने इसे खेल का हिस्सा बताया.