Yo Diary

ब्रिटेन में पहली बार 2 नेताओं को जेल की सजा, मुस्लिम विरोधी भावनाओं को बढ़ाने का आरोप

लंदन,(एएनआइ)।पहली बार ब्रिटेन के दो नेताओं को जेल की सजा सुनाई गई है। इन पर मुस्लिम विरोधी भावनाओं को बढ़ाने का आरोप है। पूर्व ईडीएल,नेशनल फ्रंट और ब्रिटिश नेशनल पार्टी के सदस्य पॉल गोल्डिंग और वर्तमान में ब्रिटेन के फर्स्ट एंड डिप्टी जादा फ्रांसेन को 18 और 36 सप्ताह जेल की सजा सुनाई गई है। द गार्जियन के मुताबिक उनका कार्य तीन मुस्लिम पुरूषों और एक किशोरी के खिलाफ था। इन लोगों पर कैंटरबरी क्राउन कोर्ट में एक 16 वर्षीय युवती के साथ बलात्कार करने के लिए मुकदमा चल रहा था। अभियोजक पक्ष ने अदालत में कहा कि ये दोनों निर्दोष लोगों पर धार्मिक रूप से बढ़ते हुए दुर्व्यवहार को लक्षित करना चाहते थे।

दोनों के खिलाफ जांच के दौरान पत्रों और ऑनलाइन वीडियो के वितरण के लिए एक जांच शुरू की गई थी जिसके बाद उन्हें पिछले साल मई में गिरफ्तार किया गया था। इन वीडियो में फ्रांसेन को मुस्लिमों लोगों के घरों के बाहर खड़े हुए देखा गया था और वह दरवाजों को जोर-जोर से पीट रहे थे। वीडियों में घर के अंदर मौजूद लोग जोर-जोर से मदद के लिए चिल्ला रहे थे।

बुधवार को जस्टिन बैरन ने गोल्डिंग और फ्रांसेन के शब्दों और कार्यों को मुसलमानों और मुस्लिम विश्वास के प्रति शत्रुता का प्रदर्शन बताया। उन्होंने कहा कि मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि उनका इरादा तथ्यों को अपने स्वयं के राजनैतिक कार्यों के लिए इस्तेमाल करने का था। यह प्रतिवादियों की जाति, धर्म और आप्रवासी पृष्ठभूमि की ओर ध्यान आकर्षित करने के लिए एक अभियान था। फ्रांसेन पर धार्मिक रूप से बढ़ते उत्पीड़न के चार और गोल्डिंग पर तीन मामलों पर आरोप लगाया गया है।