Yo Diary

जासूसी के संदिग्ध इरानियन-कनैडियन प्रोफेसर की पत्नी तेहरान में गिरफ्तार

ओटावा (एजेंसी)।कनाडाई मूल के इरानी प्रोफेसर जिसे जासूसी के संदेह में इरान में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। पिछले ही महीने तेहरान के जेल में उसकी मौत हो गई थी। उनके बेटे ने बताया कि उनकी अब उनकी मां मरियम मोंबिनी को इरानी अधिकारियों ने गिरफ्तार कर लिया है। बताया कि जब वे कनाडा के लिए फ्लाइट पकड़ने वाली थी तभी उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि उनके बेटे उन्होंने छोड़ दिया गया जो वहां से वैंकूवर के लिए निकल गए। आपको बता दें कि तीन सदस्यीय इस परिवार को इरान और कनाडा की दोहरी नागरिकता प्राप्त है। इस दौरान वे टोरंटो और वैंकूवर में रहते हैं।

बताया जाता है कि 55 वर्षीय मोंबिनी को बाद में रिहा कर दिया गया लेकिन उनका इरानियन पासपोर्ट जब्त कर लिया गया। उनके बेटे ने बताया कि जब उनकी मां को गिरफ्तार किया जा रहा थी तब वह उसे गिड़गिड़ाते हुए कह रही थी कि वे प्लेन के अंदर चले जाएं और इस नर्क से दूर से चले जाएं। उसने बताया कि उसकी मां के पास अभी भी कनाडा का पासपोर्ट है और वह अपने घर तेहरान लौट आई है।

बेटे सईद इमामी ने बताया कि मेरे पिता के मौत के बाद मेरी मां ने पिछले दो सप्ताह से कई मुश्किलों का सामना किया है। जिस मानसिक पीड़ा से हम गुजर रहे हैं वह काफी दर्दनाक है। हम इसे अब और नहीं सह सकते हैं।उसने आगे कहा, उसका परिवार इरानियन अधिकारियों के प्रताड़ना का शिकार हुआ है। हम यहां से जल्द से जल्द बाहर चले जाना चाहते हैं। हम और यहां नहीं रह सकते हैं। उन्होंने गलत परिवार के साथ मामला जोड़ दिया है। जब तक मेरी मां सुरक्षित मैं मैं इस मामले पर शांत रहूंगा। इरान जेल में प्रोफेसर की मौत पर कई सवाल उठाए जा रहे हैं। प्रोफेसर की मौत के बाद सांसदों ने इरान के खिलाफ कई आरोप लगाए हैं।

क्या था मामला

तेहरान में अधिकारियों ने कहा कि 63 वर्षीय उसके पिता ने जासूसी के संदेह में गिरफ्तार किए जाने के दो सप्ताह के भीतर ही जेल में आत्महत्या कर ली। लेकिन उसके परिवार वाले इस बात को मानने को तैयार नहीं है कि उन्होंने खुद अपनी जान ली होगी। परिवार ने बॉडी की अटॉप्सी जांच की मांग की जिसे इरानी अधिकारियों ने खारिज कर दिया।

क्या था मामला

न्यूयॉर्क के मानवाधिकार मुख्यालय के निदेशक का कहना है कि वह जेल में रहने के दौरान अपनी पत्नी और बेटों से संपर्क में था। कहा कि यह राजनीति हो रही है। उस परिवार के लिए चिंताजनक है जिसने कभी राजनीति की ही ना हो। मेमारियन नामक एक अन्य कैदी जो 2004 में गिरफ्तार हुआ था ने बताया कि यह इरान के अधिकारियों, पत्रकारों और कार्यकर्ताओं की चाल है।

कनाडा का जवाब:-सईद इमामी ने कहा, कनाडा के विदेश मंत्रालय के संसदीय सचिव वैंकूवर पहुंचने पर उनका स्वागत करेंगे। आपको बता दें कि ईरान में कनाडा का कोई दूतावास नहीं है 2012 में दोनों देशों ने राजनयिक संबंध तोड़ दिए और इटली अब कनाडा के हितों को देखता है। कनाडाई ईरानी के ओन्टारियो के सांसद ने कहा कि वह पीड़ित परिवार के साथ संपर्क में हैं, साथ ही वे गुरुवार को वैंकूवर में हवाई अड्डे पर बेटों से मिलने की योजना है। उन्होंने कहा कि यह घटना बहुत ही निराशाजनक है यह परिवार इस समय अविश्वसनीय मुश्किल दौर से गुजर रहा है।"