Yo Diary

अल्‍जीरिया में सैन्‍य विमान दुर्घटनाग्रस्‍त, 257 लोगों की मौत, मरने वालों में ज्‍यादातर जवान

अल्‍जीरिया में एक सैन्‍य विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया है। सरकारी टीवी चैनल के मुताबिक, हादसे में 257 लोग मारे गए हैं। विमान में ज्‍यादातर जवान सवार थे। विमान बुफारिक एयरपोर्ट के समीप बुधवार (11 अप्रैल) को क्रैश हुआ। अल्‍जीरिया के सरकारी रेडियो चैनल के अनुसार, सैन्‍य विमान इल्‍युशिन आई1-76 देश की राजधानी अल्‍जीयर्स के दक्षिण-पश्चिम में दुर्घटना का शिकार हुआ है। हादसे में कम से कम सौ लोगों के मारे जाने की बात कही गई है। दुर्घटना की वजहों का अभी तक पता नहीं चल सका है। मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि रूस निर्मित सेना का यह विमान पश्चिमी अल्‍जीरिया में स्थित बेचार शहर की उड़ान पर था। दुर्घटनास्‍थल पर राहत एवं बचाव कर्मी पहुंच गए हैं। स्‍थानीय लोग भी मदद करने के लिए वहां पहुंच गए थे। बुफारिक में हुआ यह हादसा पिछले 15 वर्षों का सबसे भयानक विमान दुर्घटना है। वर्ष 2003 में एयर अल्‍जीरी का एक विमान तमानरासेट से उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया था। इसमें 102 लोगों की मौत हो गई थी।

अल्‍जीरिया के सिविल एविएशन प्रोटेक्‍शन एजेंसी के मुख्‍य प्रवक्‍ता मोहम्‍मद अकोर ने सौ से ज्‍यादा लोगों के मारे जाने की पुष्टि कर दी है। उन्‍होंने आधिकारिक तौर पर स्‍पष्‍ट किया कि विमान से जवानों को ले जाया जा रहा था। रक्षा मंत्रालय ने पीड़ितों के परिवारों के प्रति सहानुभूति जताई है। मोहम्‍मद के मुताबिक, विमान ने बुफारिक एयरबेस से उड़ान भरा ही था। विमान राजधानी अल्‍जीयर्स से तकरीबन 30 किलोमीटर दूर ही पहुंचा था कि क्रैश हो गया। उन्‍होंने बताया कि सेना का यह विमान दक्षिणी अल्‍जीरिया के टिनडॉफ में रुकने वाला था। यह एक विवादित क्षेत्र है, जिस पर मोरक्‍को ने कब्‍जा कर लिया है। यहां ज्‍यादातर पश्चिमी सहारा क्षेत्र के शरणार्थी रहते हैं।

चार साल पहले भी जवान और उनके परिजन हुए थे हादसे का शिकार:

वर्ष 2014 में सी-130 विमान जेबेल फर्टास पर्वत श्रृंखला में दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया था। इसमें 70 से ज्‍यादा ऑफ ड्यूटी जवान और उनके परिजन सवार थे। यह विमान कुछ देर बाद ही कुस्‍तुंतुनिया में लैंड करने वाला था। दुर्घटना में सभी मारे गए थे। इससे पहले वर्ष 2012 में अल्‍जीरिया के पश्चिमोत्‍तर शहर लेमसेन में दो सैन्‍य विमान आपस में ही टकरा गए थे। इस हादसे में दोनों विमान के पायलट मारे गए थे। एक महीना पहले ही सेना का सीएएसए सी-295 मालवाहक विमान दक्षिणी फ्रांस में क्रैश हो गया था। यह विमान बैंक नोट छापने वाले पेपर के साथ फ्रांस से अल्‍जीरिया आ रहा था। विमान में पांच जवान और अल्‍जीरिया सेंट्रल बैंक का एक प्रतिनिधि सवार था। इनमें से कोई भी नहीं बच सका था।