Yo Diary

बंगाल : तलवार लेकर शोभायात्रा में हुए शामिल, दिलीप घोष पर FIR, दिलीप ने कहा, जरूरत पड़ी तो बंदूक भी

कोलकाता : जरूरत पड़ने पर बंदूक और तलवार भी उठायेंगे, लेकिन रिफ्यूजी नहीं होना चाहते हैं. यह कहना है प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष का. रामनवमी को लेकर निकाली गयी शोभायात्रा में तलवार लेकर शामिल होने के कारण श्री घोष के खिलाफ भी एफआइआर दर्ज की गयी है इस प्रसंग में सोमावर को उन्होंने कहा कि अच्छा नहीं लगने पर चुप रहना ही ठीक है. रैली में बच्चों के हाथों में तलवार थमाये जाने की बात पर उन्होंने कहा कि जब आठ साल की बच्चियों के साथ दुष्कर्म होते हैं, तब कहां रहती है प्रशासन, आज बच्चियों की इज्जत बचाने के लिए बच्चे अपने हाथों में हथियार उठा रहे हैं. इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं है.

इधर कांदी की घटना को लेकर उन्होंने कहा कि इसके लिए राज्य सरकार जिम्मेवार है.राज्य की कानून व्यवस्था बिगड़ती जा रही है, जिस कारण से लोग हथियार उठा रहे हैं. उन्होंने कहा कि दुर्गापूजा के दौरान कानून व्यवस्था कहां रहती है, जब मुहर्रम में हथियार लेकर जुलूस निकाले जाते हैं, तब समस्याएं नहीं होती हैं? तो अभी राज्य सरकार को क्यों समस्या हो रही है. कोलकाता : भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष तथा विधायक दिलीप घोष सोमवार को कोलकाता नगर निगम में विधायक इलाका उन्नयन प्रकल्प (बीइयूपी) की बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे. बैठक के बाद उन्होंने संवाददाताओं को बताया कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्य के विकास के लिए वायदे करती हैं, लेकिन हमें इस बैठक में पता चला है कि उन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए विधायक फंड खर्च ठीक तरीके से नहीं किया है.

सीएम के अलावा राज्य के पंचायत मंत्री सुब्रत मुखर्जी तथा मंत्री साधन पांडे अपने विधायक फंड को इलाके के विकास के लिए खर्च नहीं कर रहे हैं. रामनवमी के दिन हुए संघर्ष के विषय में पूछे जाने के पर उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन को पहले से व्यवस्था करके रखना चाहिए. उन्होंने कहा कि लॉकेट चटर्जी के हाथ में त्रिशूल देख कर ममता बनर्जी भयभीत हो गयी हैं. इसलिए उनके खिलाफ एफआइआर की गयी हैं.