Yo Diary

रामनवमी पर तलवार नहीं, गदा लेकर निकलेंगे रामभक्त

कोलकाता :पिछले साल रामनवमी के अवसर पर तलवार लेकर शस्त्र पूजा करनेवाले प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने एलान किया है कि इस बार 25 मार्च को रामनवमी के दिन वह गदा लेकर जुलूस निकालेंगे. दिलीप घोष अपने चुनाव क्षेत्र खड़गपुर समेत पूरे पश्चिम मेदिनीपुर जिला में प्रचार भी करेंगे. हालांकि रामनवमी के जुलूस में भाजपा का झंडा नहीं होगा. खड़गपुर से जो जुलूस निकलेगा, उसमें 500 मोटरसाइकिल सवार शामिल रहेंगे. उल्लेखनीय है कि रामनवमी पर शहर के रास्तों में अस्त्र लेकर जुलूस नहीं निकालने के लिए लालबाजार से प्रदेश भाजपा मुख्यालय को पत्र भेजा गया है. इसके बाद से ही तलवार की जगह अब गदा लेकर जुलूस निकालने की तैयारी हो रही है. सूत्रों के अनुसार रामनवमी मनाने का मुख्य दायित्व विश्व हिंदू परिषद को दिया गया है. रामनवमी के ठीक बाद पंचायत चुनाव है. लिहाजा रणनीति के तहत भाजपा पूरी ताकत के साथ रामनवमी मनाने में जुटी हुई है. पिछली बार अस्त्र जुलूस को लेकर काफी चर्चा हुई थी. खुद खड़गपुर में दिलीप घोष मौजूद थे तो वहीं कोलकाता में 50 जगहों पर जुलूस निकला था. जिसमें प्रदेश भाजपा के नेता मौजूद थे. दक्षिण दमदम में जुलूस निकालने

आगे-आगे देखिये होता है क्या: शायंतन

वहीं, प्रदेश भाजपा के महासचिव शायंतन बसु ने चुटकी लेते कहा कि भाजपा के डर से तृणमूल कांग्रेस रामनवमी मनाने का एलान कर रही है. अभी आगे-आगे देखिये होता है क्या. क्योंकि तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी को इस बात का आभास हो गया है कि उसके मुस्लिम तुष्टिकरण की नीति से बहुसंख्यक बेहद नाराज चल रहे हैं. इसलिए वह रामनवमी मनाने का एलान कर रही है. उन्होंने कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम राम की पूजा करेंगी और जय श्री राम का उद्धघोष नहीं करेंगी ऐसा कैसे हो सकता है. उन्होंने कहा कि पिछली बार भी हम कानून मानकर ही रामनवमी का जुलूस निकाले थे. इस बार भी कानून मानकर ही रामनवमी का कार्यक्रम होगा.

उद्योग सम्मेलन पर श्वेत पत्र जारी करे सरकार : मुकुल

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दार्जिलिंग में उद्योग सम्मेलन कर रही हैं और मुकुल राय उस पर कटाक्ष कर रहे हैं. मुकुल राय ने कहा कि अभी तक वह ममता बनर्जी के नेतृत्व में पांच उद्योग सम्मेलन देख चुके हैं. करोड़ों रुपये खर्च करके जिस तरह का सम्मेलन हुआ है, लिहाजा जनता के पैसे से होनेवाले इस आयोजन को खर्च का हिसाब तो देना ही होगा. उन्हें बताना होगा कि अब तक कितना निवेश बंगाल में हुआ है. राज्य सरकार इस बाबत श्वेत पत्र जारी करे. उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री फासीवादी तरीके से बर्ताव कर रही हैं. विरोधियों को जेलों में बंद किया जा रहा है, जबकि राज्य सरकार भ्रष्टाचार में डूबी हुई है. उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के मौजूदा नेतृत्व से उबे लोग बड़ी संख्या में पार्टी छोड़कर भाजपा के साथ हो रहे हैं. सही मायने में ममता बनर्जी के नीचे से जमीन खिसक रही है. लेकिन वह वामपंथियों की तरह अभी मुगालते में हैं.

प्रदेश भाजपा की पूरी टीम बंगाल दौरे पर

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अमित शाह पंचायत चुनाव के पहले अप्रैल में बंगाल में आयेंगे. उनके भेजे कार्यक्रम के अनुसार सात-आठ अप्रैल या 11-12 अप्रैल जो संभव हो, उस समय वह आयेंगे. अभी तक प्रदेश भाजपा ने दिन तय करके नहीं भेजा है. प्रदेश के सभी नेता फिलहाल जिलाें के दौरे पर हैं. नतीजतन प्रदेश मुख्यालय में केवल दफ्तरी कामकाज करने वालों के अलावा कोई नजर नहीं आ रहा है. मुकुल राय, सुब्रत चटर्जी, प्रताप बनर्जी समेत कई नेता उत्तर बंगाल के दौरे पर हैं. वहीं, दिलीप घोष, शमिक भट्टाचार्य, संजय सिंह, देवश्री चौधरी, राजू बनर्जी आदि दक्षिण बंगाल में हैं. पार्टी दफ्तर की कमान फिलहाल शायंतन बसु के हवाले है. सभी नेता पंचायत स्तर पर टीम का गठन कर बैठकें कर रहे हैं. बैठक में पार्टी के पदाधिकारी रह रहे हैं, तो बैठक के बाद सार्वजनिक सभा का आयोजन किया जा रहा है. संगठन को मजबूत करने के साथ भाजपा अध्यक्ष की सभा में किसी मामले में कोई कमी नहीं रह जाये, इसके लिए उन्हें तैयार किया जा रहा है. कार्यकर्ताओं को इस बात पर जोर दिया जा रहा है कि वह जमीनी स्तर पर अपना नेटवर्क मजबूत रखें. पार्टी की तरफ से हर तरह की सहायता दिया जाये

प्रदेश भाजपा की पूरी टीम बंगाल दौरे पर