Yo Diary

सात महीने तक मर्जी के खिलाफ जबरन करवाया गया देह व्यापार, पुलिस ने कराया रिहा

कोलकाता :काम दिलाने के बहाने बांग्लादेश से कोलकाता लाकर उत्तर कोलकाता के सोनागाछी इलाके में बेच दी गयी एक 18 वर्षीय युवती को लालबाजार के एंटी ह्यूमेन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) की टीम ने रिहा कराया. रिहा करायी गयी युवती बांग्लादेश के गोबताली थाना अंतर्गत मीरापुर की रहनेवाली है. पुलिस को उसने बताया कि गरीबी के कारण उसके परिवारवाले उसके लिए काम की तलाश कर रहे थे. इसी समय एक युवक से परिवार का परिचय हुआ. युवक ने बताया कि सीमा पार कर बांग्लादेश से कोलकाता ले जाकर वह उनकी बेटी को बेहतर काम में लगा देगा. इस बहकावे में आकर उसके साथ तीन अन्य युवतियां बांग्लादेश से कोलकाता आ गयीं. इसके बाद यहां लाकर युवक ने उन्हें देह व्यापार के धंधे में लगा दिया. यहां से निकलने की उन्होंने काफी कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिल पायी.

अंत में किसी तरह पुलिस को लड़की की खबर लग गयी और उसने उसे रिहा कराया. इस मामले में कोलकाता पुलिस के संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) प्रवीण त्रिपाठी का कहना है कि युवती के साथ बांग्लादेश से कोलकाया आयी अन्य दो युवतियों की भी तलाश की जा रही है.