Yo Diary

महाशिवरात्रि 2018: कामनालिंग बैद्यनाथधाम समेत झारखंड के प्रसिद्ध शिव मंदिर

बैद्यनाथधाम भारत के द्वादश ज्योतिर्लिंगों में से एक बाबा बैद्यनाथ शिवलिंग झारखंड के देवघर में मौजूद है। देवघर यानि जहां देवता निवास करते हैं। हिंदू मान्यता के अनुसार ज्योतिर्लिंग वह स्थान कहलाते हैं जहां भगवान शिव प्रकट हुए और ज्योति रूप में स्थापित हैं।

पौराणिक कथाओं के अनुसार जब शिव सती के शरीर को लेकर घूम रहे थे तो सती का हृद्य यहां गिरा था। इसलिए मान्यता है कि यहां पूजा करने वाले श्रद्धालुओं की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। इसलिए इस शिवलिंग को कामना लिंग भी कहा जाता है। कथाओं के अनुसार सती के शरीर के 51 खंड हुए थे। यह अंग जहां गिरे, वहां शक्तिपीठ की स्थापना हुई। सावन के महीने में श्रद्धालु यहां गंगाजल से बाबा का अभिषेक करते हैं। श्रद्धालु 105 किमी दूर सुल्‍तानगंज में पवित्र गंगा नदी से गंगाजल भरकर कांवर उठाते हैं पैदल यात्रा पूरी कर बाबा बैद्यनाथ का जलाभिषेक करते हैं।