Yo Diary

2019 में ढूंढने पर भी नहीं मिलेगी भाजपा: ममता

हावड़ा,[जागरण संवाददाता]। साल 2019 के चुनाव के बाद ढूंढने पर भी भाजपा नहीं मिलने वाली है। चुनाव के बाद भाजपा को ढूंढने के लिए दूरबीन का सहारा लेने पड़ेगा। केंद्र में झूठ की सरकार चल रही है। राजस्थान में हुए चुनावों में जनता ने इन्हें (भाजपा) खूब सबक सिखाया है। कहा, उलबेडि़या में तीनों विपक्षी पार्टियों को मिले मतों को मिला दे, तो भी तृणमूल को मिले मतों की बराबरी तक नहीं पहुंच पाएंगे। शुक्रवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, भाजपा समेत तमाम विपक्षी दलों पर कुछ इसी अंदाज में हमला बोलीं। वह डुमुरजला स्टेडियम में तृणमूल छात्र परिषद और तृणमूल युवा कांग्रेस के संयुक्त सम्मेलन को संबोधित कर रही थीं।

स्वास्थ्य योजनाएं महज दिखावा

गुरुवार को पेश केंद्रीय बजट पर बोलते हुए सीएम ने कहा कि भाजपा को अभी बजट तैयार करना भी नहीं आता है। कहा, सत्ता से बेदखल होने के भय में इस प्रकार का बजट पेश किया गया है। बजट में बंबू (बांस) मिशन पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आखिर इस प्रकार की सोच इनके (भाजपा) दिमाग में आती कहा से है? बजट में स्वास्थ्य सेवा योजना को उन्होंने केंद्र सरकार का दिखावा करार दिया। मोटरबाइक और पैसों के बूते बंगाल में जीत हासिल नहीं की जा सकती। हालिया चुनावों में भाजपा के मत वृद्धि पर बोलते हुए कहा, माकपा का पारंपरिक वोट भाजपा को शिफ्ट हुआ है। कई स्थानों पर भाजपा को कांग्रेस का सहयोग मिला है।

मुकुल का नाम बगैर कहा 'कपटी'

सीएम ने कहा कि कुछ 'कपटी'हैं, जो खुद को बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं, वे लोग कुछ भी कर सकते हैं। ऐसे लोगों से बचकर रहने की जरूरत है। इन लोगों पर बिलकुल ही भरोसा ना करें। ऐसे 'बेईमानों' के जाने से हम बच गए हैं, हमारी पार्टी बच गई है। हालांकि सीएम ने मंच से किसी का नाम नहीं लिया। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंच से माकपा और कांग्रेस को भी जमकर लताड़ा।

छात्रों से जताईं सहानुभूति

मंच पर वक्तव्य के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, कलकत्ता विश्वविद्यालय के प्रथम वर्ष के छात्रों के साथ खड़ी दिखीं। मंचासीन शिक्षामंत्री पार्थ चट्टोपाध्याय से अनुरोध करते हुए सीएम ने कहा कि पता नहीं, मेरा यह कहना उचित होगा की नहीं, लेकिन मैं केवल इतना कहना चाहती हूं कि, इस बार काफी संख्या में छात्र फेल हुए हैं। हमें छात्र-छात्राओं के पक्ष को भी ध्यान में रखना चाहिए।

छात्रों से जताईं सहानुभूति

पंचायत चुनाव से पूर्व दक्षिण बंगाल के तमाम जिलों को लेकर आयोजित इस सम्मेलन को पार्टी के नजरिए से बेहद खास माना जा रहा है। उल्लेखनीय है कि युवा तृणमूल कांग्रेस व तृणमूल छात्र परिषद के संयुक्त पहल पर आयोजित सम्मेलन में राज्य के 17 जिलों से हजारों की संख्या में पार्टी के युवा समर्थक पहुंचे थे। सम्मेलन में 40,000 लोगों के भोजन करने की व्यवस्था की गई थी। सहकारिता मंत्री अरूप राय, शिक्षामंत्री पार्थ चट्टोपाध्याय, शहरी विकास मामलों के मंत्री फिरहाद हकीम, सिंचाई मंत्री राजीव बनर्जी, परिवहन मंत्री शुभेंदु अधिकारी, सांसद सुब्रत बख्शी, विद्युतमंत्री शोभन देव चट्टोपाध्याय प्रमुख रूप से सम्मेलन में मौजूद थे।