Yo Diary

74 करोड़ रुपये खेल बजट बढ़ा कर किया 477 करोड़ : ममता

कोलकाता, [जागरण संवाददाता] ।पश्चिम बंगाल पर बकाया कर्ज को लेकर तृणमूल कांग्रेस प्रमुख व पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को एक बार फिर पूर्ववर्ती वाम मोर्चा सरकार पर निशाना साधा। इतना ही नहीं उन्होंने आरोप लगाया कि वामो सरकार की ओर से राज्य में खेल को नजरअंदाज किया गया। बुधवार को नेताजी इंडोर स्टेडियम में खेलश्री पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान सुश्री बनर्जी ने कहा कि 2010-11 में जब तृणमूल सत्ता में आई तो खेल के लिए बजट आवंटन केवल 74 करोड़ रुपये था जिसे हमने 2017-18 में बढ़ा कर करीब 477 करोड़ रुपये कर दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत सरकार द्वारा लिए गए भारी भरकम उधार को चुकाने के लिए तृणमूल सरकार को आज भी कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। हम विगत सरकार द्वारा लिए गए 48,000 करोड़ रुपये कर्ज का भुगतान कर रहे हैं जिसे हम पर थोपा गया। उन्होंने कहा वाममोर्चा सरकार ने सर्वाधिक कर्ज साल 2006-07 में लिया जिसमें निजी कर्ज भी शामिल है। आज स्थिति यह है कि हमें 10 साल की अवधि के परिप्रेक्ष्य में ब्याज समेत इस ऋण को फिर से चुकाना पड़ रहा है।

चुकाना पड़ रहा भारी भरकम कर्ज

मुख्यमंत्री ने कहा कि साल 2011 में हमने 25,000 करोड़ रुपये कर्ज अदा किया जबकि वित्तीय वर्ष 2012-13 में 28,000 करोड़ रुपये और 2013-14 में 30,000 करोड़ रुपये अदा किया। इसी तरह हमें 2014-15 में 30,000-35,000 करोड़ रुपये चुकाना पड़ा और इस तरह हर साल बढ़ते हुए पुनर्भुगतान की मात्रा 2016-17 में 45,000 करोड़ रुपये पहुंच गई जबकि 2017-18 में यह बढ़ कर 48,000 करोड़ रुपए है।

नोटबंदी और जीएसटी ने किया अर्थव्यवस्था को सुस्त

ममता बनर्जी ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सरकार द्वारा बगैर तैयारी जीएसटी लागू किए जाने का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। आज अर्थव्यवस्था की रफ्तार सुस्त पड़ चुकी है और जीडीपी में गिरावट दर्ज की जा रही है। उन्होंने कहा कि कर्ज के बोझ के साथ राज्य को जीएसटी के कारण भी भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। ममता ने कहा कि आज जीडीपी में दो फीसद की गिरावट देखी जा रही है।

नोटबंदी और जीएसटी ने किया अर्थव्यवस्था को सुस्त

विपक्षी दलों द्वारा क्लबों को अनुदान दिए जाने की परवाह किए बगैर ममता बनर्जी ने एक बार फिर स्पष्ट कर दिया कि वे क्लबों को अनुदान राशि देना जारी रखेंगी। इसी के साथ सुश्री बनर्जी ने कहा कि इलाके में बेहतर परिवेश बनाने की जिम्मेवारी क्लबों को उठानी होगी। इस दिन 4,300 क्लबों को 2 लाख आवंटित करने के साथ मुख्यमंत्री ने कहा कि क्लबों में खेल को बढ़ावा देने व बुनियादी सुविधाओं को सुदृढ़ बनाने के लिए तृणमूल कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद से 600 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक क्लब को 5 लाख रुपये मिलेंगे जिनमें से पहले साल में 2 लाख रुपये दिए गए जबकि शेष राशि अगले तीन वषरें में प्रत्येक साल एक लाख के हिसाब से वितरित की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने अब तक 15,000 से अधिक क्लबों की मदद की है। मुख्यमंत्री ने क्लबों को वित्तीय सहायता देने के फैसले को उचित ठहराया और कहा कि क्लब खेल के लिए बुनियादी ढांचे के विकास में भी हिस्सा लेते हैं और कई सामाजिक कार्य भी करते हैं।

अंडर -19 विश्र्व कप की मेजबानी को तैयार बंगाल मुख्यमंत्री ने इस दिन फीफी अंडर 17 विश्व कप के सफल आयोजन के लिए राज्य की प्रशंसा की और कहा कि राज्य में विश्र्व कप फुटबाल कप के क्वार्टर फाइनल, सेमी फाइनल और फाइनल का आयोजन सफलतापूर्वक किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि फीफा ने युवा भारती स्टेडियम को दुनिया में सर्वश्रेष्ठ स्टेडियम के रूप में मान्यता दी है। हमने यहां अंडर -19 विश्र्व कप को आयोजित करने को लेकर भी अनुरोध किया है। अगर उधर से ग्रीन सिग्नल मिलता है तो हम इसकी मेजबानी को तैयार हैं। स्वास्थ्य साथी योजना से जुड़ेंगे पूर्व खिलाड़ी राज्य सरकार की ओर से बड़ा एलान करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार पूर्व खिलाडि़यों को स्वास्थ्य साथी योजना से जोड़ना चाहती है ताकि उन्हें इसका लाभ मिल सके। इस बाबत मुख्यमंत्री ने यहां उपस्थित युवा व खेल मामलों के मंत्री अरुप विश्वास, राज्यमंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला व अन्य अधिकारियों से सुझाव मांगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य साथी योजना से जुड़ने के बाद विभिन्न क्षेत्र के पूर्व खिलाडि़यों को 5 लाख की बीमा राशि का लाभ मिलेगा जिसका इस्तेमाल वे