Yo Diary

बंगाल की झांकी को दिल्ली में प्रदर्शित करने की नहीं मिली है अनुमति

कोलकाता, [राज्य ब्यूरो] गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली के राजपथ पर निकलने वाली राज्यों की झांकियों में पश्चिम बंगाल की झांकी को जगह इस बार भी नहीं मिली है। पिछले वर्ष भी नहीं मिली थी। झांकी शामिल नहीं होने को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। साथ ही घोषणा की थी कि दिल्ली नहीं तो कोलकाता के रेड रोड में उक्त झांकी को लोगों के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा। उसी अनुसार उक्त झांकी शुक्रवार को रेड रोड में निकाली जाएगी।

दिल्ली के साथ ही इस बार गणंतत्र दिवस के मौके पर पश्चिम बंगाल की झांकी भी नहीं दिखी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसको लेकर नरेंद्र मोदी की सरकार की कड़ी आलोचना की है। दरअसल, पश्चिम बंगाल सरकार इस बार एकता की थीम पर झांकी पेश करने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन इसे स्वीकार नहीं किया गया। ममता बनर्जी ने मोदी सरकार को आड़े हाथ लेते हुए भाजपा पर लोगों को धर्म के आधार पर बांटने का आरोप लगाया था। मालूम हो कि गणतंत्र दिवस के मौके पर देश के विभिन्न राज्यों की झांकियां निकाली जाती हैं। इसके लिए समय से पहले केंद्र के पास प्रस्ताव भेजना पड़ता है। प्रस्ताव के स्वीकार होने पर ही संबंधित राज्य झांकी प्रदर्शित कर पाते हैं।

तीन हजार जवानों ने संभाली कमान

26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस के दिन रेड रोड पर होने वाली परेड में उमड़ने वाली भारी भीड़ की सुरक्षा के मद्देनजर कोलकाता पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। कल ही रेड रोड पर परेड की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई थी। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर कोलकाता पुलिस के बम व डॉग स्कवाड की टीम ने पूरे ग्राउंड का मुआयना किया व चप्पे-चप्पे को डॉग स्कवाड की मदद से खंगाला है। रेड रोड के अलावा महानगर के सभी मुख्य चौराहों व कोलकाता में प्रवेश के सभी केंद्रों पर विगत कई दिनों से गहन तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। 1 बड़ी मालवाही गाड़ियों को कोलकाता में प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई है। इसके साथ ही सुरक्षा के लिए तीन हजार अतिरिक्त पुलिस कर्मियों ने मोर्चा संभाल लिया है। इनमें उपायुक्त, संयुक्त व अतिरिक्त पुलिस आयुक्त रैंक के 22 अधिकारी शामिल हैं। सुरक्षा की सुविधा के लिए परेड स्थल व आस-पास के इलाके को 125 विभागों में बांटा गया है जिसमें रेड रोड से संलग्न हेस्टिंग्स से लेकर पार्क स्ट्रीट, स्ट्रांड रोड आदि तक का क्षेत्र समाहित है। परेड स्थल के आस-पास 14 एंबुलेंस तैनात हैं। इसके अलावा तीन जगहों पर क्विक रिस