Yo Diary

यूपी रेप केस: आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर एसएसपी आॅफिस पहुंचे, सरेंडर किए बिना ही वापस लौटे

लखनऊ.उन्नाव गैंग रेप केस में आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर बुधवार देर रात करीब 11.45 बजे लखनऊ में एसएसपी के बंगले पर स्थित कैम्प ऑफिस पहुंचे। सरेंडर करने की अटकलों के बीच समर्थकों के लंबे-चौड़े काफिले के साथ आए सेंगर ने कहा कि वह सरेंडर करने नहीं आए हैं। मीडिया में उन्हें लगातार भगोड़ा बताया जा रहा था, इसलिए आया। उनकेे साथ सपा के विधान पार्षद अक्षय प्रताप गोपाल और बसपा के विधायक अनिल सिंह भी थे। विधायक के खिलाफ अभी कोई एफआईआर नहीं है। ऐसे में पुलिस को समझ नहीं आया कि तमाम विवादों के बावजूद उन्हें गिरफ्तार किस आधार पर करें। भीड़ ज्यादा होती देख एसएसपी ने बंगले के गेट बंद करवा दिए। कुछ देर बाद सेंगर वापस लौट गए। इस बीच विधायकों के गुर्गों ने कई मीडियाकर्मियों से मारपीट भी की।

एसआईटी ने अपनी अंतरिम रिपोर्ट योगी को सौंपी

मामले में लखनऊ जोन के एडीजी राजीव कुष्ण द्वारा एसआईटी रिपोर्ट सरकार को सौंपी दी गई है। सूत्रों के मुताबिक, रिपोर्ट में पीड़िता के पिता से मारपीट के मामले में सेंगर के भाई अतुल सिंह सेंगर को दोषी बताया गया है। इसके बाद ही अटकलें लगाई जा रही थीं कि वह रात को सरेंडर कर सकते हैं।

देर रात योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया

- बुधवार देर रात योगी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी। पीड़िता के परिवार को सुरक्षा दिए जाने के साथ ही पीड़िता के पिता के मौत की भी जांच भी सीबीआई को सौंपी गई है। वहीं, भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर और उनके समर्थकों पर एफआईआर दर्ज की जाएगी।- सरकार ने एसआईटी, जेल डीआईजी और उन्नाव जिला प्रशासन से भी रिपोर्ट मांगी थी। तीन रिपोर्ट मिलने के बाद गृह विभाग ने यह फैसले लिए। - वहीं, पीड़िता के पिता के इलाज में लापरवाही बरतने के आरोप में उन्नाव जिला अस्पताल के दो डॉक्टरों डॉ. डीके द्वेदी(सीएमएस) और डॉ. प्रशांत उपाध्याय(ईएमओ) के खिलाफ सस्पेंशन की कार्रवाई की गई है। - इतना ही नहीं जेल अस्पताल के तीन डॉक्टरों डॉ. मनोज कुमार(आर्थोसर्जन), डॉ. जीपी सचान(सर्जन) और डॉ. गौरव अग्रवाल(ईएमओ) के खिलाफ लापरवाही बरतने के आरोप में अनुशासनात्मक कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं। साथ ही सीओ सफीपुर कुंवर बहादुर सिंह को मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में सस्पेंड कर दिए गए हैं।

एसएसपी ऑफिस पहुंचकर क्या कहा सेंगर ने?

- भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी बुधवार को लखनऊ में ही थे। उनके लखनऊ से निकलने के करीब आधे घंटे के बाद ही सेंगर एसएसपी के बंगले पर पहुंचे थे। जहां उन्होंने कहा, "आप( मीडिया) जहां कहो वहीं चलें। आपके चैनल में चलकर बैठें। मैं चैनल के साथियों के कहने पर यहां आया हूं। चैनल के साथी जहां पर कहेंगे वहां चलूंगा।"

एसएसपी ऑफिस पहुंचकर क्या कहा सेंगर ने?

- पीड़िता के पिता के साथ मारपीट के मामले में मंगलवार को विधायक के भाई अतुल सेंगर समेत 4 लोगों को लखनऊ क्राइम ब्रांच की टीम ने उन्नाव से गिरफ्तार किया। विधायक के भाई पर पीड़िता के पिता पर झूठा केस करने का भी आरोप है। पुलिस ने गिरफ्तार लोगों को उन्नाव जेल भेजा। - बता दें कि सोमवार को जेल से हॉस्पिटल लाए गए पीड़िता के पिता की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। बाद में पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ था उसकी मौत बड़ी आंत फटने से हुई थी। उसकी बॉडी पर 14 जगह गंभीर चोट के निशान थे।

पीड़िता बोली: डीएम ने होटल में बंद कर दिया:-- पीड़िता ने कहा, "मैं सीएम से न्याय की मांग करती हूं। मुझे डीएम ने होटल के एक कमरे में बंद कर दिया है। पानी तक नहीं दिया गया। हर कमरे में गार्ड थे। जब उनसे पानी मांगा तो उन्होंने कहा कि ये हमारा काम नहीं है। मैं अपराधी को दंड दिलाना चाहती हूं। ये लोग मुझ पर माफी के लिए दबाव क्यों बना रहे हैं। क्या ये लोग चाहते हैं कि मेरे एक और चाचा की हत्या हो जाए।" - बुधवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने स्वतः संज्ञान लिया था। मामले की 12 अप्रैल को सुनवाई होगी। वहीं, सुप्रीम कोर्ट भी मामले की सीबीआई जांच और पीड़िता को मुआवजा देने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार है।

Technology

.तो भारत में इलेक्ट्रिक कारें बनाएगी मर्सडीज बेंज?

गेम खेलने की लत बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक

Wheels And Waves 2018: रॉयल एनफील्ड ने पेश की तीन दमदार कस्टम बाइक्स

इस कंपनी का सस्ता स्मार्टफोन भारत में लॉन्च, Redmi 5 से मुकाबला

लॉन्च हुआ गूगल एंड्रॉयड मैसेज डेस्कटॉप वर्जन, व्हाट्सएप की तरह कर सकेंगे इस्तेमाल