Yo Diary

1- परीक्षा के दबाव में लगातार कई घंटे तक न पढ़ें। बल्कि थोड़ी थोड़ी देर का बीच में ब्रेक भी लेते रहे

केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान सोमवार को खाप पंचायतों के मुखिया लोगों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पास पहुंचे और मुजफ्फरनगर में दंगों के बाद दर्ज कराए गए आगजनी के मुकदमे वापस लेने की गुहार लगाई। उनका कहना था कि आगजनी के ज्यादातर मुकदमे फर्जी दर्ज कराए गए थे। मुख्यमंत्री से मुलाकात के लिए उनके कार्यालय शास्त्री भवन जाने से पहले वीवीआईपी गेस्ट हाउस में उन्होंने कहा कि वर्ष 2013 में मुजफ्फरनगर में हुए दंगों में मुख्य रूप से तीन तरह के मुकदमे दर्ज हुए थे। इसमें हत्या व आगजनी के अलावा गिरफ्तारी के दौरान पुलिस की ओर से दर्ज कराए गए मुकदमे शामिल हैं। दंगों में कुल 510 मुकदमे दर्ज कराए गए थे, जिसमें 6869 लोग नामजद किए गए थे। इसमें ज्यादातर लोग एक ही संप्रदाय के हैं। यहां तक कि नामजद लोगों में 17 मृतकों के नाम भी शामिल कर दिए गए थे। उन्होंने बताया कि इन मुकदमों में 402 आगजनी के हैं, जिसमें से ज्यादातर फर्जी हैं।

केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान सोमवार को खाप पंचायतों के मुखिया लोगों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पास पहुंचे और मुजफ्फरनगर में दंगों के बाद दर्ज कराए गए आगजनी के मुकदमे वापस लेने की गुहार लगाई। उनका कहना था कि आगजनी के ज्यादातर मुकदमे फर्जी दर्ज कराए गए थे। मुख्यमंत्री से मुलाकात के लिए उनके कार्यालय शास्त्री भवन जाने से पहले वीवीआईपी गेस्ट हाउस में उन्होंने कहा कि वर्ष 2013 में मुजफ्फरनगर में हुए दंगों में मुख्य रूप से तीन तरह के मुकदमे दर्ज हुए थे। इसमें हत्या व आगजनी के अलावा गिरफ्तारी के दौरान पुलिस की ओर से दर्ज कराए गए मुकदमे शामिल हैं। दंगों में कुल 510 मुकदमे दर्ज कराए गए थे, जिसमें 6869 लोग नामजद किए गए थे। इसमें ज्यादातर लोग एक ही संप्रदाय के हैं। यहां तक कि नामजद लोगों में 17 मृतकों के नाम भी शामिल कर दिए गए थे। उन्होंने बताया कि इन मुकदमों में 402 आगजनी के हैं, जिसमें से ज्यादातर फर्जी हैं।

Technology

.तो भारत में इलेक्ट्रिक कारें बनाएगी मर्सडीज बेंज?

गेम खेलने की लत बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक

Wheels And Waves 2018: रॉयल एनफील्ड ने पेश की तीन दमदार कस्टम बाइक्स

इस कंपनी का सस्ता स्मार्टफोन भारत में लॉन्च, Redmi 5 से मुकाबला

लॉन्च हुआ गूगल एंड्रॉयड मैसेज डेस्कटॉप वर्जन, व्हाट्सएप की तरह कर सकेंगे इस्तेमाल