Yo Diary

ऑस्ट्रेलियाई ओपन से भारत के लिए खुशखबरी, बोपन्ना दूसरे ग्रैंडस्लैम खिताब के करीब

मेलबर्न :भारत के रोहन बोपन्ना ने हंगरी की जोड़ीदार टिमिया बाबोस के साथ मिलकर आस्ट्रेलियाई ओपन के मिश्रित युगल फाइनल में प्रवेश किया, जिससे वह अपने दूसरे ग्रैंडस्लैम खिताब के करीब हैं. बोपन्ना ने जहां बेहतर सर्विस की तो बाबोस ने तेज रिटर्न किये, इस तरह इस जोड़ी ने सेमीफाइनल में ब्राजील के मार्सेलो डेमोलिनर और स्पेन की मारिया जोस मार्टिनेज सांचेज को 7-5 5-7 10-6 से मात दी. बोपन्ना ने अपना पहला ग्रैंडस्लैम खिताब 2017 फ्रेंच ओपन में जीता था, जिसमें उन्होंने कनाडा की गैब्रिएला दाब्रोवस्की के साथ जोड़ी बनायी थी.

दिलचस्प बात है कि दाब्रोवस्की अब बोपन्ना के खिलाफ दूसरे छोर पर होंगी, जहां यह भारतीय राड लावेर एरीना में अपना पहला खिताब हासिल करने की कोशिश करेगा. बाबोस के लिये मिश्रित युगल खिताब दोहरी खुशी लेकर आयेगा, क्योंकि वह पहले ही महिला युगल खिताब जीत चुकी हैं.

दाब्रोवस्की ने क्रोएशिया के माटे पाविच के साथ मिलकर दूसरे सेमीफाइनल में ब्रुनो सोरेस और कैटरीना मकारोवा की जोड़ी को 6-1 6-4 से शिकस्त दी. महेश भूपति, लिएंडर पेस और सानिया मिर्जा के बाद बोपन्ना चौथे भारतीय हैं जो मेजर ट्राफी जीतने में सफल रहे हैं.

फ्रेंच ओपन खिताब और मेलबर्न पार्क में प्रदर्शन से निश्चित रूप से वह इस साल के अर्जुन पुरस्कार के लिये मजबूत दावेदार बन जायेंगे, वह 2017 में इससे चूक गये थे. पुरुष युगल में हालांकि बोपन्ना ज्यादा दूर तक नहीं जा सके और एडुअर्ड रोजर वेसलिन के साथ तीसरे दौर में हारकर बाहर हो गये.