Yo Diary

केरल आदिवासी युवक हत्‍या मामला : वीरेंद्र सहवाग ने कहा सॉरी, कम्‍यूनल नहीं था मेरा ट्वीट

नयी दिल्‍ली :टीम इंडिया के पूर्व आक्रामक बल्‍लेबाज वीरेंद्र सहवाग एक बार फिर अपने ट्वीट को लेकर बुरे फंस गये हैं. उन्‍होंने अब अपनी गलती के लिए माफी मांगनी पड़ रही है.

दरअसल वीरु ने केरल में पीट-पीटकर आदिवासी युवक की हत्‍या मामले में एक ट्वीट किया था. सहवाग ने इस घटना की निंदा करते हुए ट्वीट किया. उन्‍होंने लिखा था, 'मधु ने सिर्फ एक किलो चावल चुराए थे. इस पर उबेद, हुसैन और अब्दुल ने उस गरीब आदिवासी को मार डाला. यह एक सभ्य समाज के लिए कलंक की तरह है. मुझे इस बात पर शर्म आती है कि ऐसा होने पर भी किसी को कोई फर्क नहीं पड़ रहा.'

लेकिन वीरु को यह लिखना काफी महंगा पड़ गया और उन्‍हें ट्वीट पर लोगों ने करारा जवाब देना शुरू कर दिया. लिहाजा वीरु को एक और ट्वीट कर लोगों से माफी मांगना पड़ा. साथ ही उन्‍होंने अपनी गलती पर परदा न डालते हुए सफाई दी है कि उन्‍होंने जो ट्वीट किया है उसमें सांप्रदायिकता को बढ़ावा देने वाली जैसी कोई बात नहीं है. वीरु ने अपने दूसरे ट्वीट पर माफी मांगते हुए कहा कि उनका ट्वीट कम्‍यूनल नहीं था. उन्‍हें इस बात का अफसोस है कि हत्‍या मामले में शामिल अन्‍य लोगों का नाम उन्‍होंने अपने ट्वीट में शामिल नहीं किया. उन्‍होंने केरल में शांति बहाल की अपील की है. गौरतलब हो कि वीरु के ट्वीट पर कई लोगों ने आपत्ति जतायी थी. एक शख्‍स ने तो उन्‍हें चमचागिरी करने वाला बता दिया. कई लोगों ने तो वीरु को पहले मामले की पड़ताल कर लेने की सलाह दे दी. मालूम हो गुरुवार शाम स्थानीय लोगों ने अगाली नगर में कुछ दुकानों से खाद्य वस्तुओं की चोरी का आरोप लगाते हुए 30 वर्षीय एक आदिवासी व्यक्ति की कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या कर दी.