Yo Diary

HWL 2017: भारतीय कोच ने कहा, हार को भुलाकर ब्रॉन्ज मेडल पर हमारी नजर

अर्जेंटीना से हॉकी विश्व लीग फाइनल के सेमीफाइनल में मिली हार को निराशाजनक बताते हुए भारतीय हॉकी टीम के कोच शोर्ड मारिन ने कहा कि इससे उबरकर अब टीम को पूरा फोकस कांस्य पदक के मुकाबले पर करना है। अर्जेंटीना ने तेज बारिश के बीच खेले गए मैच में भारत को 1-0 से हराकर पदक का रंग बेहतर करने का मेजबान का सपना तोड़ दिया। मारिन ने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेस में कहा, मैं यह मैच दोबारा कभी नहीं देखूंगा जबकि मैं सारे मैच देखता हूं। इसका कारण यह है कि हालात अलग थे और हमारी क्षमता की यह असल परीक्षा नहीं थी। मैं अर्जेंटीना से सामान्य हालात में खेलकर देखना चाहूंगा कि हम उन्हें हरा सकते हैं या नहीं। हमें खिलाड़ियों का ध्यान इस हार पर से हटाकर कल होने वाले कांस्य पदक के मुकाबले पर केंद्रित करना है।

उन्होंने कहा, जीत के साथ हमें हार के बाद के हालात से भी निपटना आना चाहिये। हम ज्यादा देर तक इसे जेहन में बनाये नहीं रख सकते। हमें अगले मैच पर फोकस करना है और आज खिलाड़ियों से मैं यही कहूंगा क्योंकि अभी भी हम कांस्य पदक जीत सकते हैं। मारिन ने कहा कि हार के बावजूद वह टीम के प्रदर्शन से निराश नहीं है। उन्होंने कहा, पेनल्टी कॉर्नर, गेंद पर नियंत्रण, सर्कल में सेंध लगाने के मामले में हम आगे थे। हमें यह नहीं भूलना चाहिये कि हमारा मुकाबला ओलंपिक चैम्पियन और दुनिया की नंबर एक टीम से था। उन्हें हमने सिर्फ एक पेनल्टी कॉर्नर गंवाया जो अच्छा प्रदर्शन कहा जायेगा।