Yo Diary

INDvsSA, LIVE : रुकावटों के बाद मैच शुरू, टीम इंडिया के पास जीत का मौका

INDvsSA, LIVE : रुकावटों के बाद मैच शुरू, टीम इंडिया के पास जीत का मौकाबल्लेबाजों के लिए खतरनाक हो चुके वांडर्स की पिच पर चौथे दिन मैच बारिश के कारण गीले हुए मैदान के कारण समय पर शुरू नहीं हो सका. बाद में निर्धारित समय से एक घंटे बाद मैच शुरू हुआ. चौथे दिन भी सुबह बारिश के कारण अाउट फील्ड में पानी भर गया. इस कारण मैच समय पर शुरू नहीं हो सका. क्रीज पर हाशिम अमला और डीन एल्गर खेल रहे हैं. दूसरी पारी में अफ्रीका ने 26 रन बना लिए हैं. उसका एक खिलाड़ी आउट हो चुका है. इससे पहले जब तीसरे दिन खेल रुका, उस समय यह सवाल उठ रहे थे, कि क्या ये मैच चौथे दिन रद्द हो जाएगा. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. अब भारत के पास ये मैच जीतकर अपने आपको साबित करने का मौका है. इससे पहले तीसरे दिन पिच पर खड़े होना भी मुश्किल हो गया. असमान उछाल और तेजी के बीच गेंदबाज इस विकेट पर बल्लेबाजों की कड़ी परीक्षा ले रहे थे. कई बार मैदान पर फिजियोथेरेपिस्ट के दर्शन भी हुए. वाबजूद इसके भारत ने अजिंक्य रहाणे के 48, कप्तान विराट कोहली के 41, भुवनेश्वर कुमार के 33, मुरली विजय के 25 और मोहम्मद शमी के 27 रनों की मदद से दक्षिण अफ्रीका के सामने तीसरे और आखिरी टेस्ट मैच में 241 रनों का लक्ष्य दिया.SCORECARD

लेकिन मैच के तीसरे दिन शुक्रवार के तीसरे सत्र में पिच की खराब स्थिति को देखते हुए अंपायरों ने इस पर चर्चा की और अंत में तकरीबन आधे घंटे पहले दिन का खेल समाप्ति की घोषणा कर दी. दिन का खेल खत्म होने तक दक्षिण अफ्रीका ने एक विकेट के नुकसान पर 8.3 ओवरों में 17 रन बना लिए. पूरे दिन के दौरान कई बार अंपायर पिच को लेकर चर्चा करते दिखे.

यह घोषणा तब हुई जब जसप्रीत बुमराह की एक गेंद असमान उछाल के लेकर मेजबान टीम के सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर (11) के हेलमेट पर जा कर लगी और मैदान पर एक बार फिर फिजियो के दर्शन हुए. इस समय दक्षिण अफ्रीका ने पिच की शिकायत मैदानी अंपायरों से की और मैच रोक दिया गया. इस बीच बारिश ने भी दस्तक दी और इसी बहाने दिन का खेल खत्म करने की औपचारिक घोषणा कर दी गई.

हालांकि यह मैच में पहला मौका नहीं था कि गेंद बल्लेबाजों के शरीर पर लगी और खिलाड़ी चोटिल हुए हैं. एल्गर इससे पहले एक बार अंगूठे पर और एक बार जांघ पर गेंद खा चुके थे. भारतीय पारी के दौरान भी ऐसा कई बार हुआ. मोर्ने मोर्कल की गेंद बुमराह के कंधे पर लगी थी. फिलेंडर की गेंद भुवनेश्वर के शरीर पर जा टकराई थी. रहाणे ने भी कई बार असमान उछाल का सामना किया. बल्लेबाज गेंद को भांपने में गलती कर रहे थे ऐसा विकेट के असमान उछाल के कारण कई बार देखने को मिला.हालांकि कप्तान कोहली ने ड्रेसिंग रूम से अपने बल्लेबाजों से विकेट पर खड़े रहने और पूरा खेलना को कहा जो उन्होंने किया और मेजबान टीम को एक ऐसा लक्ष्य प्रदान किया जो इस विकेट पर दो दिन का खेल शेष रहने के बाद भी पहुंच से बाहर लग रहा है.