Yo Diary

बिहार : आजादी के बाद पहली बार भभुआ में बनी महिला विधायक...जानें जहानाबाद और अररिया के प्रत्याशी के ब

भभुआ (कैमूर) :भभुआ विधानसभा उपचुनाव में अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए एनडीए व महागठबंधन के राजनेताओं ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया. अंतत: जीत एनडीए के घटक दल भाजपा की प्रत्याशी रिंकी रानी पांडेय की हुई. श्रीमती पांडेय ने महागठबंधन के प्रत्याशी शंभु सिंह पटेल को 14,866 वोटों से पराजित कर भभुआ विधानसभा क्षेत्र से आजादी के बाद पहली महिला विधायक होने का गौरव प्राप्त किया. उल्लेखनीय है कि 2015 में हुए आमचुनाव में आनंद भूषण पांडेय को 50,768 वोट मिले थे. वहीं, उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी जदयू के डॉ प्रमोद सिंह को 43,024 मत प्राप्त हुए थे. पिछली बार की जीत-हार के आंकड़ों पर गौर करें तो भाजपा के आनंद भूषण पांडेय ने 7,744 वोटों से जीत दर्ज की थी. वहीं, उनकी पत्नी ने इस बार जीत के अंतर को बढ़ाते हुए अपने प्रतिद्धंदी को 14,866 वोटों से हराया.

भभुआ विस क्षेत्र में अब तक बने विधायक

2018- रिंकी रानी पांडेय - भाजपा 2015- आनंद भूषण पांडेय - भाजपा 2010 - डॉ प्रमोद कु सिंह- एलजेपी नवंबर 2005- रामचंद्र सिंह यादव- बसपा फरवरी 2005- डॉ प्रमोद कुमार सिंह- राजद 2000- डॉ प्रमोद कु सिंह - राजद 1995 - रामलाल सिंह - सीपीआई 1990 - विजयशंकर पांडेय- कांग्रेस 1985 - रामराज सिंह - सीपीआई 1980 - श्यामनारायण पांडेय- कांग्रेस 1977 - शिवपरीक्षा सिंह - जेएनपी 1969 - चंद्रमौली मिश्र - भारतीय जनसंघ 1967 - श्यामनारायण पांडेय- कांग्रेस 1957 - अलवारिश खां - कांग्रेस

जहानाबाद में सुदय का उदय, अभिराम पर विराम

जहानाबाद : उपचुनाव में वोटरों ने महागठबंधन के राजद प्रत्याशी कुमार कृष्ण मोहन उर्फ सुदय यादव को जीत दिलाकर उनका उदय तो किया ही, साथ ही उनके पिता दिवंगत मुंद्रिका बाबू को बड़ी श्रद्धांजलि दी है. राजद प्रत्याशी को जनता ने उनसे भी ज्यादा वोट देकर यह साबित किया कि सुख-दुख की घड़ी में सदैव साथ रहनेवाले मुंद्रिका बाबू के अरमानों के साथ वे (वोटर) अब भी हैं. वर्ष 2015 में मुंद्रिका प्रसाद यादव को 76458 वोट मिले थे, जबकि रालोसपा प्रत्याशी प्रवीण कुमार ने 46137 वोट प्राप्त किया था. सुदय यादव को अपने पिता से 140 वोट ज्यादा 76598 मत मिले. जदयू प्रत्याशी को पिछले चुनाव की अपेक्षा 4882 कम वोट मिले. उन्हें 41255 वोट ही प्राप्त हुए. वर्ष 2010 के चुनाव में जदयू प्रत्याशी के रूप में 35 हजार 508 वोट लाकर अभिराम शर्मा चुनाव जीते थे. उस वक्त राजद प्रत्याशी सचिदानंद यादव को 26941 वोट ही प्राप्त हुए थे लेकिन इस बार लोगों ने वोटों का बिखराव नहीं करते हुए महागठबंधन के राजद प्रत्याशी के प्रति ही अपनी आस्था व्यक्त की और जद यू प्रत्याशी अभिराम शर्मा पर विराम लगा दिया. इस चुनाव में जदयू के अलग होने के बाद

अररिया में दो विस क्षेत्रों में बढ़त बना चुनाव जीता राजद ने

अररिया : अररिया लोकसभा क्षेत्र में विधानसभा वार भाजपा प्रत्याशी प्रदीप कुमार सिंह को सबसे अधिक मत फारबिसगंज में मिले, पर वे लाख का आंकड़ा नहीं छू सके, जबकि सरफराज को सबसे अधिक मत उनके गृह क्षेत्र जोकीहाट में मिले. वे जोकीहाट व अररिया में लाख का आंकड़ा पार कर गये. हालांकि भाजपा प्रत्याशी को जिले की छह विस क्षेत्रों में से नरपतगंज में 18652, फारबिसगंज में 19241, रानीगंज में 15296 व सिकटी में 16670 की बढ़ मिली. सरफराज आलम को केवल दो विस क्षेत्र जोकीहाट व अररिया में बढ़ मिली. सरफराज आलम को जोकीहाट में 81248 व अररिया में 50426 की बढ़त मिली. इस प्रकार केवल दो विस क्षेत्रों में बढ़त बना कर सरफराज आलम चुनाव जीत गये.

अररिया में दो विस क्षेत्रों में बढ़त बना चुनाव जीता राजद ने

नरपतगंज : भाजपा -88349, राजद - 69697 : अंतर- 18652 फारबिसगंज : भाजपा-93739, राजद -74498 : अंतर- 19241 रानीगंज : भाजपा -82004, राजद -66708 : अंतर- 15296 सिकटी : भाजपा -87070, राजद- 70400 : अंतर- 16670 अररिया : भाजपा- 56834, राजद- 107260 : अंतर- 50426 जोकीहाट : भाजपा-39517, राजद-120765 : अंतर- 81248 कुल 61788 मतों से राजद जीता प्रत्याशीवार मिले मत प्रदीप कुमार सिंह : 447546 सरफराज आलम : 509334