Yo Diary

Friendship Day 2018: इंडिया नहीं इस देश में मनाया गया पहला फ्रेंडशिप डे, जानिए पूरी हिस्ट्री

अगस्त महीने के पहले संडे को दोस्ती का दिन मनाया जाता है. इस दिन को फ्रेंडशिप डे (Friendship Day) कहते हैं. इस दिन दोस्तों के लिए गिफ्ट्स खरीदना, पार्टी करना, उन्हें स्पेशल मैसेजेस भेजना और आउटिंग की जाती है. कुछ लोग तो इस दिन को सेलिब्रेट करने के लिए रोड ट्रिप या फिर दूर वेकेशन के लिए निकल जाते हैं. इसके अवाला आज भी स्कूलों में दोस्त एक-दूसरे को चॉकलेट्स, फूल, ग्रीटिंग कार्ड्स, फ्रेंडशिप बैंड जैसी कई चीजें देते हैं. आपने और हमने भी स्कूल के दिनों वो प्लास्टिक के फ्रेंडशिप बैंड्स (Friendship Bands) गिफ्ट्स किए होंगे, इसे खरीदने के लिए अपनी पॉकेट मनी में से कई दिनों पहले ही सेविंग शुरू कर दी जाती थी. या फिर मां या पापा से भी गिफ्ट्स के लिए पैसे मिल जाया करते थे. लेकिन आपने कभी सोचा है कि इस दिन की शुरुआत कैसे हुई? आखिर ये फ्रेंडशिप डे (Friendship Day) किस तरह शुरू हुआ? चलिए आपको बताते हैं यहां.

फ्रेंडशिप डे का इतिहास (Friendship Day History)

हर साल अगस्त महीने के पहले रविवार को मनाया जाने वाला 'फ्रेंडशिप डे' (Friendship Day) इंडिया में भी काफी पॉपुलर है. सोशल मीडिया के बढ़ते ट्रेंड के चलते बड़ी ही धूमधाम से दोस्ती-यारी के इस दिन को भारत ये यूथ मनाते हैं. लेकिन भारत से पहले दक्षिण अमेरिकी देश खासकर पैराग्वे में फ्रेंडशिप डे (Friendship Day) काफी जोरो-शोरों से मनाया जाता था. यहां 1958 में पहले अंतरराष्ट्रीय फ्रेंडशिप दिवस (International Friendship Day) का प्रस्ताव रखा गया था. जिसके बाद शुरू में ग्रीटिंग कार्ड्स (Greeting Cards) को इस दिन अपने दोस्तों को देने का बढ़ावा मिला

इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे(International Friendship Day)

दुनियाभर के अलग-अलग देशों में फ्रेंडशिप डे (Friendship Day) अलग-अलग दिन मनाया जाता है. 27 अप्रैल 2011 को संयुक्त राष्ट्र संघ की आम सभा ने 30 जुलाई को आधिकारिक तौर पर इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे (International Friendship Day) घोषित किया था. हालांकि, भारत सहित कई दक्षिण एशियाई देशों में अगस्त के पहले रविवार को फ्रेंडशिप डे मनाया जाता है. ओहायो के ओर्बलिन में 8 अप्रैल को फ्रेंडशिप डे (Friendship Day) मनाया जाता है.