Yo Diary

सोना असली है या नकली? इन 5 आसान तरीकों से घर पर करें पहचान

नई दिल्ली: अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) ही नहीं भारत में सोना 12 महीनों खरीदा जाता है. शादी का सीजन हो या कोई त्यौहार, सोने की डिमांड हमेशा हाई रहती है. ऐसे में जरूरी है कि हर ग्राहक जागरूक हो कि जो वो सोना खरीद रहे हैं वो असली हो. क्योंकि ज्यादातर लोगों को आज भी सोने की सही पहचान नहीं है. सरकार ने बेशक हॉलमार्क के विज्ञापनों के जरिए लोगों को थोड़ा अवेयर करने की कोशिश की हो, लेकिन बावजूद उसके कुछ लोग पैसे बचाने के चक्कर में सुनारों के झांसे में आ जाते हैं और नकली सोना ले बैठते हैं. इसीलिए अपनी हजारों की कमाई को नकली सोने में बहाने के बजाय नीचे दिए टिप्स को पढ़ें और अपने सोने को अच्छे से परखें कि वो असली है या नकली

1. चुंबक टेस्ट

इसके लिए हार्डवेयर की दुकान से चुंबक लें और इससे सोने की जूलरी पर लगाएं. अगर यह चिपकता है तो आपका सोना असली नहीं है और अगर नहीं चिपकता तो यह असली है. क्योंकि सोना चुम्बकीय धातु नहीं है.

2. सिरामिक थाली

इस टेस्ट के लिए एक सफेद सिरामिक थाली लें. अगर ना हो तो बाजार से ले आएं. अब सोने की जूलरी या सोने को उस प्लेट पर घिसे. अगर इस थाली पर काले निखान पड़ें तो आपको सोना नकली है और अगर हल्के सुनहरे रंग के पड़े तो आपका सोना असली है.

3. पानी टेस्ट

एक और सबसे आसान तरीका है पानी टेस्ट. इसके लिए एक गहरे बर्तन में 2 गिलास पानी डालें और सोने की जूलरी इस पानी में डाल दें. अगर आपका सोना तैरता है तो वो असली नही है. वहीं, आपकी जूलरी डूब कर सतह पर बैठ जाए तो असली है.

3. पानी टेस्ट

इन सबके अलावा एक और तरीका यह है कि सोने को अपने दांतों के बीच कुछ देर दबा कर रखें. अगर आपका सोना असली होगा तो इस पर आपके दांतों के निशान दिखाई देंगे. क्योंकि सोना एक बहुत ही नाजुक धातु है. जूलरी भी प्योर 24 कैरेट सोने की नहीं बनती बल्कि इसमें कुछ मात्रा अन्य धातु मिलाई जाती है. इस टेस्ट को आराम से करें, ज्यादा तेज सोना दबाने से वह टूट सकता है.

नोट - जब भी आप इस टेस्ट को ट्राय करें तो सलाह है बाकि ऊपर दिए गए एक और टेस्ट करने के बाद ही सोना असली है या नहीं सुनिश्चित करें.