Yo Diary

गुजरात के स्कूलों में हाजिरी के दौरान यस सर की बजाय जय हिंद-जय भारत कहेंगे छात्र

अहमदाबाद, जेएनएन।गुजरात सरकार ने नया फरमान जारी किया है। जिसके मुताबिक, नए साल से गुजरात में स्कूली छात्र यस सर व प्रजेंट सर के बजाय जय हिंद या जय भारत कहकर हाजिरी देंगे। यह निर्णय सोमवार को गुजरात के शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चुड़ासमा द्वारा बुलाई गई बैठक में लिया गया। बैठक के बाद इस बारे में सोमवार को ही प्राथमिक शिक्षा निदेशालय व गुजरात माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा अधिसूचना जारी कर दी गई।

इसे राज्य के सभी सरकारी, सरकारी सहायता प्रदत्त व स्वपोषित स्कूलों में पहली से 12वीं की कक्षाओं में लागू होना है। अधिसूचना के अनुसार, इससे छात्रों के बीच देशभक्ति की भावना का संचार बचपन से ही होगा।

गौरतलब है कि प्रोफेसर यशवंत राव केलकर अवार्ड विजेता सुनील जोशी राजस्थान के जालोर मे अपने एक आदर्श हायर सेकेंडरी स्कूल में यस सर यह मैडम के बजाय जय हिंद या जय भारत बोलने पर हाजिरी करने का पायलट प्रोजेक्ट चला रहे हैं।

अहमदाबाद में गत माह आयोजित 64वें राष्ट्रीय सम्मेलन में उन्होंने अपनी बात रखी। राज्य के शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चूडास्मा से मुलाकात में जोशी ने यह फार्मूला अपनाने की सलाह दी तो उन्होंने आनन फानन में तुरंत जिला शिक्षा अधिकारी यों को आदेश जारी कर दिया कि नववर्ष से ही राज्य के सरकारी अनुदानित व निजी स्कूलों में हाजिरी लेते समय जय हिंद या जय भारत बोलने पर ही हाजिरी करें। शिक्षा मंत्री का कहना है कि स्कूल जीवन में बच्चा दस हजार बार यह सर यस मैडम बोलता है, उसकी जगह जय हिंद या जय भारत बोलेंगे तो उनमें राष्ट्र वाद कि भावना पैदा होगी।