Yo Diary

भारत बंद का झारखंड में असर, पलामू और गढ़वा में झड़प चतरा में सैकड़ों वाहन फंसे

रांची :एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के समर्थन में सोशल मीडिया पर वायरल सूचना के बाद मंगलवार को भारत बंद के दौरान झारखंड में स्थिति पूरी तरह सामान्य रही. रांची में वाहनों का परिचालन कम हुआ. हालांकि अधिकतर दुकानें खुली रही. बंद समर्थक सड़क पर नहीं आये. पलामू, चतरा व गढ़वा को छोड़ राज्य के सभी जिले में जनजीवन सामान्य रहा. गढ़वा में 50 बंद समर्थक हिरासत में लिये गये. यहां बंद समर्थकों और पुलिस के बीच हल्की नोक-झोंक भी हुई.

पलामू में वाहनों नहीं चले. दुकान व स्कूल बंद रहे. पुलिस को विधि व्यवस्था बनाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी. सिंगरा के पास बंद समर्थक व पुलिस के बीच हल्की झड़प भी हुई. स्थिति को नियंत्रण करने के लिए पुलिस को लाठी भी चलानी पड़ी. कई जगहों पर नोक-झाेंक की भी सूचना है. चतरा में बंद : समर्थक सुबह से ही सड़कों पर उतर आये. वाहनों का परिचालन ठप कर दिया. यहां दो दर्जन से अधिक लोग गिरफ्तार किये गये. टंडवा के आम्रपाली व मगध में कोयला का उत्खनन व डिस्पैच का कार्य ठप रहा. लोहरदगा में बॉक्साइट की ढुलाई बंद रही. जमशेदपुर में मानगाे, बारीडीह आैर गाेलमुरी में बंद समर्थक सड़क पर उतरे. दुकान-बाजार आैर परिवहन सेवा काे ठप कराया. पुलिस के साथ नाेक- झाेंक भी हुई. पुलिस ने 72 बंद समर्थकाें काे हिरासत में लिया गया. इसके अलावा राज्य के अन्य भागों में जनजीवन सामान्य रहा.

पलामू : वाहनों नहीं चले. दुकान व स्कूल बंद रहे. मेदिनीनगर के छह मुहान, कोयल पुल, सुभाष चौक, रेड़मा चौक, कचहरी चौक, सुदना के पटेल नगर, बैरिया चौक, रजवाडीह, मेदिनीनगर-औरंगाबाद मार्ग पर सिंगरा, पाटन मोड़, अमानत नदी पुल, पड़वा मोड़, पाल्हे मोड़, बैदा आदि जगहों पर बंद समर्थक सड़क पर उतरे. पुलिस को विधि व्यवस्था बनाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी. सिंगरा के पास बंद समर्थक व पुलिस के बीच हल्की झड़प भी हुई. स्थिति को नियंत्रण करने के लिए पुलिस को लाठी भी चलानी पड़ी. छह मुहान पर बंद समर्थक व पुलिस के बीच नोक-झोंक हुई. गढ़वा : छत्तीसगढ़, बिहार, उत्तर प्रदेश के लिए चलनेवाले वाहनों का परिचालन बाधित रहा़ दोपहर तक दुकानें भी बंद रहीं. कई जगह युवाओं की पुलिस के साथ झड़प भी हुई. रंका मोड़ पर पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा. इसमें करीब 10 युवाओं को हल्की चोटें आयी हैं. इसके बाद पुलिस ने 50 बंद समर्थकों को हिरासत में ले लिया.

कोडरमा : बंद के समर्थन में लोग सामने नहीं आये. झुमरीतिलैया में सन्नाटा रहा. लंबी दूरी की कुछ गाड़ियां नहीं चली. हजारीबाग. एनएच पर भारी वाहनों के परिचालन में कमी देखी गयी. चौपारण में बंद समर्थकों ने जुलूस निकाला. वहीं केरेडारी में भी आंशिक असर रहा. एनएच-33, एनएच-100 पर दुकानें खुली रही. गुमला : पालकोट व डुमरी ब्लॉक में सड़क जाम की. शहर में सभी दुकानें खुली थी. चतरा : लंबी दूरी की वाहन नहीं चले. सुबह छह बजे ही बंद समर्थकों ने सड़क पर उतर कर वाहनों का परिचालन ठप कर दिया. जाम में सैकड़ों वाहन फंसे रहे. दो दर्जन से अधिक लोग गिरफ्तार किये गये. टंडवा के आम्रपाली व मगध में कोयला का उत्खनन व डिस्पैच का कार्य ठप रहा.

लोहरदगा : लंबी दूरी की बसें नहीं चली. बॉक्साइट ढुलाई बंद रही. बाजार खुले रहे. ट्रेन व छोटे वाहनों का परिचालन समान रहा. कोल्हान : जमशेदपुर के मानगाे, बारीडीह आैर गाेलमुरी में बंद समर्थक सड़क पर उतरे. दुकान-बाजार आैर परिवहन सेवा काे ठप कराया. पुलिस के साथ नाेक- झाेंक भी हुई. पुलिस ने 72 बंद समर्थकाें काे हिरासत में लिया. शहर में मिनी बसें नहीं चलीं, लंबी दूरी की बसें कम चलीं. स्कूल-कॉलेजों में कामकाज सामान्य तरीके से हुआ. बैंक, पाेस्ट अॉफिस एवं अन्य संस्थान सामान्य ढंग से खुले रहे. चक्रधरपुर में लंबी दूरी की बसें नहीं चलीं. घाटशिला में बाजार खुले रहे. एनएच पर यात्री बसें नहीं चलीं. धालभूमगढ़ में कोई असर नहीं. बहरागोड़ा में यात्री बसों का परिचालन बंद रहा. मनोहरपुर के सभी सरकारी व गैर सरकारी कार्यालय खुले रहे, बाजार में ज्यादातर दुकानें बंद रही. छोटे-बड़े यात्री वाहनों का परिचालन अन्य दिनों की तरह ही हुआ. सरायकेला में जनजीवन सामान्य रहा. संताल परगना : देवघर में कुछ युवकों ने कृष्णापुरी व सत्संग चौक के पास सड़क जाम कर दी. सारठ-मधुपुर सड़क को जाम किया. बाइक रैली भी निकाली. पुलिस

भारत बंद के दौरान राज्य में स्थित सामान्य : गृह सचिव:-गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव एसकेजी रहाटे ने कहा है कि भारत बंद के दौरान राज्य में कहीं से किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है. पूरे राज्य में शांति व सामान्य स्थिति बहाल रही. धनबाद, जमशेदपुर सहित अन्य क्षेत्रों में रेल का परिचालन सामान्य रहा. सरकार ने संवेदनशील क्षेत्रों में राज्य के सभी जिलों में व्यापक सुरक्षा की व्यवस्था की थी.नयी दिल्ली/ पटना : कड़े सुरक्षा प्रबंध के कारण मंगलवार को भारत बंद का अधिकांश राज्यों में आंशिक असर रहा. स्कूल-कॉलेज खुले रहे. ट्रेन व बसें भी चलीं. बिहार के आरा, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय समेत कई जिलों में प्रदर्शनकारियों ने आगजनी की और ट्रेनें रोकीं. पत्थरबाजी और फायरिंग की भी घटनाएं हुईं. पंजाब के फिरोजपुर में दो गुट आपस में भिड़ गये. यूपी के कुछ जिलों में हिंसा की घटना हुईं. मप्र के भिंड व मुरैना शहर में दिनभर के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया. वहीं, भोपाल, ग्वालियर, सागर सहित कई शहरों में निषेधाज्ञा लागू की गयी. राजस्थान के कुछ इलाकों में दुकानें बंद रहीं. मालूम हो कि किसी संगठन या दल ने इस बंद की घोषणा