Yo Diary

रांची :लालू ने इंसुलिन लेने से किया मना डॉक्टरों से कहा, हम बाहर जायेंगे

रांची : रिम्स में भर्ती चारा घोटाला में सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने इंसुलिन लेने से मना कर दिया है. इलाज कर रहे डॉक्टरों को लालू ने कहा है कि इंसुलिन की बात छोड़ दीजिए, हम बाहर ही जायेंगे. सोमवार की दोपहर 12:30 बजे प्रोफेसर डॉ उमेश प्रसाद, एसोसिएट प्रोफेसर डॉ डीके झा व डॉ मिंज रूटीन परामर्श के लिए लालू के पास गये. डॉक्टरों ने अनियंत्रित शुगर लेवल को देखते हुए लालू को इंसुलिन लेने की बात कही, जिस पर लालू तैयार नहीं हुए. इसके बाद डॉक्टराें की टीम आवश्यक निर्देश देकर लौट गयी.

सूत्रों की मानें, तो लालू प्रसाद रिम्स के डॉक्टरों के परामर्श पर इंसुलिन नहीं शुरू करना चाहते हैं. वे दिल्ली के एक पुराने डॉक्टर के संपर्क में हैं. उक्त डॉक्टर ने उन्हें इंसुलिन शुरू करने से मना किया है. उक्त डॉक्टर का कहना है कि आपके (लालू प्रसाद) केस में इंसुलिन शुरू करने पर अचानक शुगर लेबल कम होने की संभावना होती है. ऐसी स्थिति में इंसुलिन नहीं शुरू करना चाहिए. इसी बात पर लालू रिम्स के डॉक्टरों के परामर्श को नहीं मान रहे हैं. इधर, सर्जरी विभाग से डॉ मृत्युंजय सरावगी ने भी लालू को पेरियेनल इन्फेक्शन के कारण हुए घाव को देखा और आवश्यक निर्देश दिया. गौरतलब है कि लालू प्रसाद 10 तरह की बीमारियों से पीड़ित हैं, जिसका इलाज रिम्स में किया जा रहा है. इधर, लालू से सोमवार को कोई भी मिलने नहीं आया. कुछ राजद कार्यकर्ता परिसर में घूमते हुए दिखे, लेकिन पुलिस की सख्ती के कारण कोई भी लालू से मिलने की हिम्मत नहीं जुटा पाया.

गृह सचिव के पास फाइल, नहीं मिल रहा सहयोग: भोला यादव

बिहार के बहादुरपुर से विधायक भोला यादव ने बताया कि लालू प्रसाद को हमलोग हायर सेंटर ले जाना चाहते हैं, क्योंकि उनका सुगर लेबल कम नहीं हाे रहा है. प्रशासन से लगातार आग्रह किया जा रहा है, लेकिन सहयोग नहीं मिल रहा है. गृह सचिव के पास फाइल है, लेकिन वहां से अनुमति नहीं मिल रही है. अनुमति मिलते ही तुरंत हायर सेंटर ले जाने की तैयारी करेंगे.

लालू खा रहे हैं खिचड़ी व दही

लालू यादव को खाने में सोमवार को खिचड़ी, दही व सलाद दिया गया. दही उन्हें पसंद है. इसलिए उसकी मात्रा बढ़ा दी गयी है. सुबह के नाश्ता में मिलने वाला दूध व अंडा उन्हें पसंद नहीं आ रहा है. इसलिए वह इसे लौटा दे रहे हैं.

लालू खा रहे हैं खिचड़ी व दही