Yo Diary

झारखंड : प्रोन्नति नहीं मिलने से वीसी व प्रोवीसी की नियुक्ति के लिए नहीं कर पा रहे हैं आवेदन

रांची :राज्य के विवि शिक्षकों ने सोमवार को राज्यपाल सह कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू से मिल कर गुहार लगायी है कि वर्षों से लंबित शिक्षकों की प्रोन्नति प्रक्रिया आरंभ करायी जाये. शिक्षकों ने राज्यपाल से कहा कि शिक्षकों को प्रोन्नति नहीं मिलने से कुलपति/प्रतिकुलपति/कुलसचिव/प्राचार्य के पद पर नियुक्ति के लिए आवेदन नहीं कर पा रहे हैं. सभी वर्गों का प्रतिनिधित्व नहीं हो पा रहा है. इस पर गंभीरता से ध्यान देने की आवश्यकता है. फुटाज के बैनर तले शिक्षकों का प्रतिनिधित्व डॉ राजकुमार कर रहे थे. इसके अलावा प्रतिनिधिमंडल में डॉ हरिअोम पांडेय, डॉ एलके कुंदन, डॉ कंजीव लोचन, डॉ एसएम अब्बास, डॉ मृत्युंजय कुमार शामिल थे.

शिक्षकों ने राज्यपाल से कहा कि वर्ष 2008 के नियुक्त शिक्षकों के एजीपी ( एकेडमिक ग्रेड पे) व पीएचडी इंक्रीमेंट देने के मामले का अब तक निबटारा नहीं हो सका है. राज्यपाल को यह भी बताया गया कि वर्ष 1996 के शिक्षकों को भी नियमसंगत तरीके से एजीपी का भुगतान नहीं हो रहा है. शिक्षकों को पूरी सेवा अवधि में 300 दिन के अर्जित अवकाश के संबंध में राज्यपाल ने आश्वासन दिया कि वह इस संबंध में सरकार व विवि से जानकारी हासिल कर त्वरित कार्रवाई करायेंगी. प्रतिनिधिमंडल ने विवि व महाविद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति शीघ्र कराने की बात कही.

पांचवें व छठे वेतनमान का बकाया, विवि सेवा आयोग का गठन, प्राचार्यों के रिक्त पदों को भरने तथा सातवें वेतनमान के लिए गठित कमेटी में शिक्षक संघ के प्रतिनिधि को भी रखने की मांग की. राज्यपाल ने सारी बातें सुनने के बाद कहा कि वे शीघ्र ही राज्य सरकार व शिक्षक संघ के प्रतिनिधियों के साथ बैठक बुला कर सभी समस्याअों के समाधान का प्रयास करेंगी.