Yo Diary

झारखंड : स्मार्ट ट्रैफिक सिस्टम के लिए आज ये तीन कंपनियां देंगी डेमो

रांची :राजधानी रांची और प्रस्तावित स्मार्ट सिटी की ट्रैफिक व्यवस्था को स्मार्ट बनाने की कवायद शुरू हो गयी है. इस मुद्दे पर मंगलवार को रांची नगर निगम सभागार में देश की तीन बड़ी कंपनियां अपना-अपना डेमो देंगी. इनमें चेन्नई की कंपनी एलएंडटी, गुड़गांव की कंपनी हनीबेल व भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड शामिल हैं. तीन दिनों तक चलनेवाले इस डेमो कार्यक्रम के लिए नगर निगम के सभागार को तीन हिस्सों में बांटा गया है. इसमें इन कंपनियों ने अपना कमांड एंड कंट्रोल व कम्यूनिकेशन सेंटर बनाया है.

डेमो के लिए इन तीनों कंपनियों ने सुजाता चौक, अरगोड़ा चौक और श्रद्धानंद चौक पर कैमरा व अन्य उपकरण लगाये हैं, जिसकी मंजूरी निगम ने पूर्व में ही सभी कंपनियों ने दे दी थी. डेमो कार्यक्रम के दौरान कंपनियां विस्तार से बतायेंगी कि कैसे स्मार्ट सिटी का कमांड एंड कंट्रोल एंड कम्यूनिकेशन सेंटर काम करेगा. डेमाे के बाद जिस कंपनी का प्रदर्शन सबसे बेहतर होगा. उसका चयन स्मार्ट सिटी काॅरपोरेशन टेंडर कमेटी करेगी.

ऐसी होगी स्मार्ट ट्रैफिक व्यवस्था

तीनों कंपनियां अपने डेमो में यह बतायेंगी कि रेड सिग्नल को कितने समय के लिए निर्धारित किया जा सकता है. किस रोड पर कितना ट्रैफिक का लोड है. इन सड़कों पर आनेवाले समय में कितने वाहनों की संख्या बढ़ने की संभावना है. इसके साथ ही यह बताया जायेगा कि किस प्रकार से आपात स्थिति में किस चौक से ट्रैफिक को डायवर्ट किया जा सकता है.

तीनों कंपनियां अपने डेमो में यह बतायेंगी कि रेड सिग्नल को कितने समय के लिए निर्धारित किया जा सकता है

स्मार्ट ट्रैफिक सिस्टम में रेड लाइट क्रॉस करने वाले वाहनों के नंबर चौराहों पर लगे कैमरों में कैद होंगे. ताकि गाड़ी का नंबर ट्रेस होने के साथ ही वाहन मालिक को ई-चालान भेजा जा सके. इसके लिए एक साफ्टवेयर के माध्यम से इसे डीटीओ ऑफिस में रजिस्टर्ड गाड़ियों के साथ इस सूची को जोड़ा जायेगा. डेमो में भाग लेनेवाली कंपनी यह भी बतायेगी कि किसी भी प्रकार के आपात स्थिति में शहर के लोगों तक कैसे इस मैसेज को पहुंचाया जायेगा. इसके माध्यम से किसी संदिग्ध वाहन चालक की सूचना भी आगे के चौक-चौराहों तक पहुंचायी जायेगी. इसके अलावा शहर के सभी चौक-चौराहों को वाई-फाई से जोड़ा जायेगा.

तीनों कंपनियां अपने डेमो में यह बतायेंगी कि रेड सिग्नल को कितने समय के लिए निर्धारित किया जा सकता है

रांची : एचइसी की 656.36 एकड़ भूमि में बन रही रांची स्मार्ट सिटी के लिए धुर्वा डैम से जलापूर्ति होगी. पेयजल व स्वच्छता विभाग ने इसका डीपीआर तैयार कर लिया है. इस पूरी परियोजना पर लगभग नौ करोड़ की लागत आयेगी. सोमवार को प्रोजेक्ट भवन में नगर विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव सह मुख्य प्रबंध निदेशक, रांची स्मार्ट सिटी कॉरपोरेशन लिमिटेड के अरुण कुमार सिंह ने रांची स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत चल रही योजनाओं की समीक्षा की. उन्होंने पेयजल आपूर्ति के लिए बने डीपीआर का तकनीकी परीक्षण कराकर टेंडर करने का आदेश दिया. बताया गया कि डीपीआर के मुताबिक प्रतिदिन लगभग 12 मिलियन लीटर पानी की आपूर्ति होगी. अपर मुख्य सचिव ने सभी योजनाओं के डीपीआर जल्द बनाकर तकनीकी परीक्षण के बाद टेंडर करने और कार्य आवंटित करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि रांची में लगभग 150 करोड़ की लागत से बननेवाले कमांड कंट्रोल एंड कम्यूनिकेशन सेंटर का भी जल्द प्रूफ ऑफ कंसेप्ट 26 से 28 मार्च के बीच कराकर अप्रैल के पहले सप्ताह तक टेंडर निष्पादित करें. बैठक में रांची स्मार्ट सिटी कारपोरेशन लिमिटेड के जीएम टेक्निकल राकेश कुमार और