Yo Diary

बोकारो SBI लॉकर ब्रेक मामला : हसन चिकना गिरोह का पांचवां सहयोगी मोहम्मद अख्तर गिरफ्तार

बोकारो :स्टेट बैंक का लॉकर काट कर दस करोड़ की संपत्ति लूट मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. इस मामले में हसन चिकना गिरोह के शख्स मो अख्तर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. बता दें कि इस मामले में चार अपराधी की गिरफ्तारी हो चुकी है. लेकिन हसन चिकना अभी भी पुलिस के गिरफ्त से बाहर है. गिरफ्तारी सिंटी थाना अन्तर्गत राम मंदिर से हुई.

अख्तर मूल रूप से गया का रहने वाला है. 15 वर्ष पूर्व इसके माता - पिता , इसके मां , भाई - बहन के साथ लेकर हावड़ा चले गये. पढ़ाई - लिखाई में मन नहीं लगा तो हावड़ा रेलवे स्टेशन में चोरी करने लगा. घटना के चार माह पूर्व उसकी दोस्ती मुन्ना नामक शख्स के साथ हुई थी. मुन्ना हावड़ा में आलू - प्याज का व्यापार करता था. मुन्ना ने बताया कि बरहरवा का हसन चिकना को चोरी का एक ब़ड़ा काम करना है. यदि तुम चाहो तो तुम भी शामिल हो सकते हो. यही से पूरी प्लान बना.

कौन है हसन चिकना

हसन चिकना समेत उसके सहयोगियों की कई शहरों में चल-अचल संपत्ति है. हसन चिकना का करोड़ों रुपये का मकान है, जबकि उसका कोई व्यवसाय या कमाई का वैध जरिया भी नहीं है. पुलिस का मानना है कि उसने व उसके सहयोगियों ने चोरी कर काफी संपत्ति जमा की है. पुलिस हसन चिकना के सहयोगियों के आय का स्रोत भी खोज रही है.

क्या है मामला

गौरतलब है कि 25 दिसंबर की रात को 11:44 बजे के बाद चोरी हुई थी. 28 मिनट के अंदर चोर खिड़की के चार रड काट कर बैंक के अंदर रात 12:10 बजे दाखिल हुए थे. सबसे पहले रास्ते में आने वाले सभी सीसीटीवी कैमरा का तार काट दिया. इस तरह 12:33 बजे के बाद बैंक के अंदर लगे सीसीटीवी व सायरन का कनेक्शन वायर काट कर चोरों ने सभी को डेड कर दिया. इसके बाद गैस कटर से लॉकर रूम का मुख्य दरवाजा तोड़ दिया. गैस कटर के सहारे बैंक में ग्राहकों के लॉकरों काटा गया था. बताया जा रहा है कि दस करोड़ की चोरी की घटना से बैंक महकमे में हाहाकार मच गया था.

क्या है मामला