Yo Diary

रांची : लालू के शरीर में खून की कमी, बढ़ा हुआ है शुगर, डॉक्‍टरों ने दी ये सब खाने की सलाह

रांची :रिम्स के कार्डियोलॉजी विंग में भरती लालू प्रसाद के शरीर में खून की कमी हो गयी है. हिमोग्लोबीन रिपोर्ट में उनके शरीर में खून 9.5 एमजी/डीएल मिला है, जाे सामान्य से कम है. हिमोग्लोबीन का सामान्य रेंज 12 से 15 एमजी/डीएल होता है. इलाज कर रहे सर्जन डॉ मृत्युंजय सरावगी ने बताया कि शरीर में कमजोरी नहीं हो इसके लिए उनकाे आयरन की गोली शुरू कर दी गयी है. वहीं उनका ब्लड प्रेशर सामान्य मिला, लेकिन शूगर सामान्य से बढ़ा था. शनिवार को हिमोग्लोबीन, क्रिटीनिन, सीबीसी की जांच के लिए ब्लड सैंपल भेजा गया है, जिसकी रिपोर्ट अभी नहीं आयी है. रिपोर्ट आने के बाद दवाओं पर फैसला लिया जायेगा. कोर्ट जाने से पूर्व लालू प्रसाद की जांच की गयी.

उनका ब्लड प्रेशर व शूगर मापा गया. घाव की ड्रेसिंग की गयी. इसके बाद उनको डॉक्टरों ने जाने की अनुमति दी. ड्रेसिंग करने पर मिला कि घाव अभी पूरी तरह सूखा नहीं है, इसलिए लगातार ड्रेसिंग की जायेगी. खाने के लिए सुपाज्य भोजन या लिक्विड डायट देने का निर्णय लिया गया. गौरतलब है कि रविवार को सीबीसी रिपोर्ट में लालू का टीएलसी 17,300 मिला था, जो सामान्य से बढ़ा हुआ था. जिससे डॉक्टर इस नतीजे पर पहुंचे थे कि उनके शरीर में संक्रमण है. दोपहर 2:15 बजे लालू कोर्ट से रिम्स लौटे. लालू धीरे-धीरे चल रहे थे, जिससे यह साफ दिख रहा था कि वह थके-थके से लग रहे है. कार्डियोलॉजी के मुख्य द्वार पर लालू के आने से

पहले सुरक्षा बढ़ गयी थी. पुलिसकर्मी गेट पर थोड़ी देर के लिए आने-जाने

पर लगा दिये थे. लालू को लिफ्ट से सीधे दूसरे तल्ला पर ले जाया गया. वह अपने कमरा संख्या में तीन में सीधे चले गये. मीडियाकर्मियों और पुलिस के बीच झड़प: फैसला सुनने के लिए लालू प्रसाद को रिम्स से करीब डेढ़ बजे कोर्ट लाया गया था. कोर्ट में पेशी के बाद उन्हें वापस ले जाते समय मीडियाकर्मियों ने लालू की प्रतिक्रिया जाननी चाही. उस समय काफी भीड़ हो गयी थी. सुरक्षाकर्मी लालू को घेरे में लेकर चल रहे थे. इस दौरान धक्का-मुक्की होने लगी. इस दौरान मीडियाकर्मियों और पुलिस के बीच झड़प भी हो गयी. पुलिस के कुछ जवानों ने मीडियाकर्मियों को धक्का दे दिया. इससे इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के एक पत्रकार गिर पड़े. उनके कैमरामैन का कैमरा टूट गया. हालांकि लालू ने पत्रकारों से कोई बात नहीं की.

जगन्नाथ मिश्रा को व्हील चेयर पर लाया गया

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा को कोर्ट परिसर में लाने के बाद उन्हें व्हील चेयर में बैठा कर कोर्ट के अंदर ले जाया गया. कोर्ट ने उन्हें मामले में बरी कर दिया. जिसके बाद वे वापस चले गये. उनके अधिवक्ता ने बताया कि डॉ मिश्रा के लिए यह बड़ी राहत है. उनकी काफी उम्र हो गयी है और उनका इलाज चल रहा है.

जगन्नाथ मिश्रा को व्हील चेयर पर लाया गया

लालू प्रसाद के कई समर्थक बिहार अौर झारखंड के विभिन्न क्षेत्र से रोज आ रहे हैं.हालांकि उनसे मुलाकात नहीं हो पाने पर समर्थकों में नाराजगी भी दिखी. एक समर्थक ने कहा कि यहां कैसा कानून चल रहा है. जेल गेट से व अस्पताल से भगा दिया जा रहा है. मुलाकात नहीं करायी जा रही है.

ई है मोदी का खेल : रघुवंश:-चारा घोटाला (दुमका कोषागार से अवैध निकासी) मामले में लालू प्रसाद समेत अन्य पर फैसले को लेकर सोमवार को कोर्ट में काफी गहमागहमी थी. दिन के 10 बजे ही मीडियाकर्मी कोर्ट परिसर में पहुंच गये थे. यहां पता चला कि दिन के 12 बजे के बाद फैसला सुनाया जायेगा.पूर्व मंत्री व राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह भी कोर्ट परिसर में मौजूद थे. दिन के 1:30 बजे अधिवक्ता संजय कोर्ट से बाहर निकले. उन्होंने बताया कि लालू प्रसाद सहित 19 आरोपियों को दोषी करार दिया गया है. 12 को कोर्ट ने बरी कर दिया है. जब पता चला कि लालू प्रसाद भी दोषी करार दिये गये हैं, तो मीडिया के समक्ष पूर्व मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि जगन्नाथ मिश्रा बरी और लालूजी को जेल, ई है मोदी जी का खेल. उन्होंने कहा कि पिछले कई दिनों से फैसले की उम्मीद में कोर्ट आ रहे थे.