Yo Diary

रांची : कुर्की शुरू होते ही बलि साहू ने किया सरेंडर, काशीनाथ महतो गोलीकांड का है मुख्य अभियुक्त

रांची : अरगोड़ा में हुए बहुचर्चित काशीनाथ महतो गोलीकांड का मुख्य अभियुक्त बलि साहू के घर पुलिस ने रविवार को जैसे ही कुर्की की कार्रवाई शुरू की, उसने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया़ मालूम हो कि एक फरवरी को अरगोड़ा थाना के अशोक नगर गेट नंबर- चार के पास जमीन कारोबारी काशीनाथ महतो को गोली मार दी गयी थी, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया था़ पुलिस की जांच में जमीन विवाद सामने आया था और परिजनों ने बलि साहू पर हत्याकरवाने के लिए सुपारी देने का आरोप लगाया था़ इस बीच पुलिस ने 24 फरवरी को हथियार के साथ दो अपराधियों को गिरफ्तार किया था़

उन अपराधियाें ने बलि साहू से सात लाख रुपये लेकर काशीनाथ की हत्या करने की बात कबूल की थी़ पुलिस को उसी समय से बलि साहू की तलाश थी़ कोर्ट के आदेश के बाद अरगोड़ा थाना की पुलिस ने बलि साहू के घर इश्तेहार भी चिपकाया था. इसके बाद कुर्की जब्ती की कार्रवाई जैसे ही शुरू की गयी, बलि साहू ने अरगोड़ा थाना में सरेंडर कर दिया़ पहले थाना में किया सरेंडर : बताया जाता है कि कुर्की की कार्रवाई शुरू होते ही बलि साहू ने पहले अरगोड़ा थाना में सरेंडर किया, लेकिन पुलिस के सभी अधिकारी कुर्की जब्ती स्थल पर थे, इस कारण बलि ने वहीं जाकर सरेंडर किया़ लिहाजा, उसे गिरफ्तार कर कुर्की की कार्रवाई रोक दी गयी. पुलिस बलि साहू के घर से सामान निकाल चुकी थी़

एक करोड़ नहीं देने के लिए बलि ने कराया था हमला : बलि साहू जमीन का बड़ा कारोबारी है़ वह रांची के विभिन्न क्षेत्रों में जमीन की खरीद-बिक्री का काम करता है़ काशीनाथ साहू के साथ मिल कर भी जमीन का कारोबार करता था. पुंदाग में आलम हाता के पास दोनों ने मिल कर एक जमीन तीन करोड़ में बेची थी़ जो जमीन बेची गयी थी, वह विवादित थी, लेकिन काशीनाथ साहू ने किसी तरह विवाद को समाप्त करा कर जमीन को लगभग तीन करोड़ में बेचवा दिया था. उसमें से एक करोड़ रुपया उसका हिस्सा बनता था़ इसी रुपये को मांगने पर उसका बलि साहू से विवाद हुआ था़ इस मामले में सितंबर 2017 में काशीनाथ ने पुंदाग ओपी और पुलिस के वरीय अफसरों से बलि के खिलाफ शिकायत भी थी. तब पुलिस ने जांच कर धारा 107 के तहत कार्रवाई की थी़

काशीनाथ ने पुलिस को बताया था कि बलि उसे एक करोड़ रुपये नहीं देना चाहता है. इतना ही नहीं, रास्ते से हटाने के लिए उस पर दो शूटर से हमला तक कराया था़ योजना तो हत्या की थी, लेकिन किसी तरह काशीनाथ की जान बच गयी़ गोली लगने के बाद काशीनाथ के भाई ने इस संबंध में अरगोड़ा थाना में बलि साहू की खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी थी़ उस समय बलि विदेश चला गया था, लेकिन जब उसे कुर्की-जब्ती की जानकारी मिली, तो उसने चुपके से सरेंडर कर दिया़