Yo Diary

सोनिया गांधी के घर रात्रिभोज में जुटे बिहार-झारखंड के दिग्गज नेता, देखें तसवीरें

नयी दिल्ली : मंगवार की रात विपक्ष की सबसे बड़ी नेता सोनिया गांधी का आवास 10 जनपथ विपक्ष के बड़े नेताओं का केंद्र बना. सोनिया गांधी ने महज साल भर बाद होने जा रहे लोकसभा चुनाव के मद्देनजर विपक्ष के सभी छोटे-बड़े दलों को रात्रिभोज पर आमंत्रित किया और हर दल के प्रतिनिधि उनके घर पर पहुंचे. कुछ ही दिन पहले सोनिया गांधी ने सौगंध ली है कि वे 2019 में नरेंद्र मोदी को सत्ता से बाहर कर देंगे. सोनिया गांधी की इस पहल में नेताओं के जुटाव ने यह भी दिखाया कि वे निर्विवाद रूप से विपक्ष का सबसे बड़ा चेहरा और सबसे स्वीकार्य नेता हैं. सोनिया गांधी के इस रात्रि भोज में वैसे दल भी पहुंचे जो अपने राज्य में एक-दूसरे के विरोधी हैं या असहमति रखते हैं.

सबसे बड़े सूबे उत्तरप्रदेश की दोनों बड़ी पार्टियां सपा व बसपा से क्रमश: रामगोपाल यादव व सतीश मिश्रा पहुंचे. दोनों की हैसियत अपनी पार्टी के अध्यक्ष के ठीक बाद की है और इसी तरह तृणमूल कांग्रेस चीफ ममता बनर्जी ने अपनी पार्टी से सुदीप बंद्योपाध्याय को भेजा जो संसद में उनकी पार्टी के नेता हैं.

बिहार से राष्ट्रीय जनता दल के युवा नेता तेजस्वी यादव उनकी बहन व राज्यसभा सदस्य मीसा भारती, हम पार्टी से उसके अध्यक्ष जीतन राम मांझी व जनता दल यूनाइटेड से बाहर हुए शरद यादव पहुंचे. शरद यादव का देश की राजनीति में बड़ा कद है और विपक्षी खेमे में उनकी मौजूदगी अहम है. इसी तरह एनसीपी चीफ शरद पवार की मौजूदगी भी वहां बहुत अहम रहीझारखंड से विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन, झारखंड विकास मोर्चा के बाबूलाल मरांडी सोनिया गांधी के रात्रिभोज में पहुंचे..

इन नेताओं के जुटाव से यह संभावना तो बन ही रही है कि ये सभी सोनिया गांधी के नेतृत्व में एक साझा मंच पर आ सकते हैं. रात्रिभोज में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, कांग्रेस के रणनीतिकार अहमद पटेल सहित दूसरे बड़े नेता मौजूद थे.