Yo Diary

कांटाटोली फ्लाइओवर की जद में कब्रिस्तान की चहारदीवारी

रांची :कांटाटोली फ्लाइओवर के निर्माण कार्य में आ रही अड़चनों को देखने के लिए शनिवार को नगर निगम, जिला प्रशासन और जुडको के अधिकारियों ने कांटाटोली चौक व इसके आसपास के क्षेत्र का दौरा किया. इस दौरान टीम ने कांटाटोली चौक के पास स्थित कब्रिस्तान की चहारदीवारी की मापी करवायी. इसमें पांच से नौ फीट का अतिक्रमण पाया गया. उप नगर आयुक्त संजय कुमार ने सदर सीओ व लोअर बाजार थाना प्रभारी को निर्देश दिया कि वे इस मामले में कब्रिस्तान कमेटी के साथ बैठक कर इसका तत्काल समाधान निकालें. कांटाटोली फ्लाइओवर के निर्माण कार्य में आ रही अड़चनों को देखने के लिए शनिवार को नगर निगम, जिला प्रशासन और जुडको के अधिकारियों ने कांटाटोली चौक व इसके आसपास के क्षेत्र का दौरा किया. इस दौरान टीम ने कांटाटोली चौक के पास स्थित कब्रिस्तान की चहारदीवारी की मापी करवायी. इसमें पांच से नौ फीट का अतिक्रमण पाया गया. उप नगर आयुक्त संजय कुमार ने सदर सीओ व लोअर बाजार थाना प्रभारी को निर्देश दिया कि वे इस मामले में कब्रिस्तान कमेटी के साथ बैठक कर इसका तत्काल समाधान निकालें.

अधिकारियों का दल इसके बाद गढ़ाटोली पुल से लेकर कांटाटोली चौक तक गया. उप नगर आयुक्त ने अधिकारियों को काम जल्द शुरू करने का निर्देश दिया. मौके पर जिला भू-अर्जन पदाधिकारी सीमा सिंह, रांची सदर सीओ डॉ धनंजय, जुडको के जीएम विकास श्रीवास्तव, डीएसपी रामकुमार मेहता व निगम की इंफोर्समेंट टीम के सदस्य मौजूद थे. दो वैकल्पिक पुल का होगा निर्माण : इस मौके पर अधिकारियों की मौजूदगी में फ्लाइओवर का निर्माण करनेवाली कंपनी मोदी प्रोजेक्ट के कर्मियों ने गढ़ाटोली पुल के समीप सूखे पेड़ और पैदल पथ को तोड़ने का काम शुरू कर किया. फ्लाइओवर का रैंप इस पुल से कोकर की तरफ जाने वाली सड़क से 100 मीटर दूर से शुरू होगा. पुल के दोनों ओर सप्लाइ पाइपलाइन भी है. निर्माण के दौरान इसे भी शिफ्ट किया जायेगा. वर्तमान में बने इस पुल के दोनों ओर 10-10 फीट चौड़ा दो पुल का निर्माण किया जायेगा. इसके बाद वर्तमान पुल को तोड़ा जायेगा, ताकि वाहनों के आवागमन में किसी तरह की परेशानी न हो.

13 को वाइएमसीए में कैंप : जमीन अधिग्रहण से संबंधित दावा पेश करने के लिए 13 मार्च को वाइएमसीए परिसर में कैंप लगाया जायेगा. इस कैंप में जिनकी जमीन अधिग्रहित होनी है, वे अपनी जमीन से संबंधित कागजात पेश करेंगे. 15-20 फीट तक होगा जमीन का अधिग्रहण : फ्लाइओवर की लंबाई 1250 मीटर है. इसकी चौड़ाई कहीं पर 90 फीट, तो कहीं पर 120 फीट होगी. जुडको के अधिकारियों की मानें तो इसके लिए सड़क के दोनों ओर 15-20 फीट तक जमीन का अधिग्रहण किया जायेगा.