Yo Diary

झारखंड में नक्सलियों ने रची थी लैंडमाइंस विस्फोट की साजिश, सुरक्षा बलों ने ऐसे कर दिया नाकाम

गिरिडीह : सुरक्षा बलों पर हमले की नक्सलियों की एक बड़ी साजिश शनिवार को नाकाम हो गयी. रिमांड पर लिये गये नक्सली सुनील मांझी की निशानदेही पर तीन लैंडमाइंस बरामद की. भाकपा माओवादियों ने पुलिस बल पर हमला बोलने के लिए सड़क के नीचे 3 इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आइइडी) बिछा रखे थे.

पीरटांड़ थाना इलाके के पालगंज-खेताडाबर मुख्य सड़क पर धावाटांड के समीप यह विस्फोटक बरामद किया गया है. बताया जाता है कि पिछले दिनों झारखंड पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त छापेमारी के दौरान डुमरी थाना इलाके के अकबकीटांड से 15 नक्सलियों को गिरफ्तार किया था. इसमें 25 लाख का इनामी नक्सली सुनील मांझी, पांच लाख का इनामी शेखर व पांच लाख का इनामी सोहन भुइयां शामिल थे.

इन नक्सलियों को गिरफ्तार करने के बाद पहले जेल भेज दिया गया और बाद में इन्हें रिमांड पर लेकर इनसे पूछताछ की गयी. रिमांड पर लिये गये नक्सलियों से एसपी सुरेंद्र कुमार झा, एएसपी दीपक कुमार, डीएसपी प्रमोद कुमार मिश्र ने पूछताछ की. इसी दौरान सुनील मांझी ने बताया कि पालगंज-खेताडाबर मुख्य सड़क पर माओवादियों नेतीन लैंड माइंस बिछा रखे हैं. इसी जानकारी के आधार पर शनिवार की सुबह एएसपी दीपक कुमार की अगुवाई में सर्च अभियान चलाया गया. अभियान में सड़क के बीचोबीच लैंडमाइंस बिछे थे. पुलिस का सर्च ऑपरेशन जारी है.