Yo Diary

देवघर व जामताड़ा में बनेगा साइबर का मॉडर्न लैब, 2017-18 में 22 हजार नियुक्तियां

संवाददाता @ देवघरसंताल परगना का देवघर व जामताड़ा जिला साइबर अपराधियों की जद में है. साइबर अपराध पर अंकुश लगाने के लिए अलग से काम चल रहा है. अब जामताड़ा व देवघर में साइबर का मॉडर्न लैब बनाया जायेगा. इसमें साइबर अपराधियों के मोबाइल व वॉयस रिकॉर्डिंग की एनालिसिस करायी जायेगा, ताकि उसे कोर्ट में भेज कर दोष सिद्ध कराया जा सके.

उक्त बातें डीजीपी डीके पांडेय ने कही. गुरुवार को देवघर पहुंचे डीजीपी ने नये परिसदन के सभा कक्ष में संताल के अधिकारियों के साथ प्रमंडल स्तरीय समीक्षा बैठक की. बैठक के बाद डीजीपी ने कहा कि राज्य में चल रहे नक्सलियों के खिलाफ अभियान को अधिक प्रभावी बनाने पर चर्चा की गयी. महिलाओं की सुरक्षा संबंधी अभियान पिंक पेट्रोलिंग समेत अन्य जो राज्य में चालू हैं, उसकी स्थिति की जानकारी ली गयी.

उन्‍होंने कहा कि रामनवमी पर विधि-व्यवस्था पर भी विचार-विमर्श किये गये. कम्यूनिकेशंस में आने वाली कठिनाई को दूर करने पर भी नीति बनायी गयी. संताल का इलाका बांग्लादेश सहित पश्चिम बंगाल व बिहार का सीमावर्ती क्षेत्र है. सुरक्षा को लेकर क्या सतर्कता हो और कैसे संयुक्त अभियान चलाया जाये इस पर विचार किया गया. उन्‍होंने कहा कि पुलिस के इंफास्ट्रक्चर को बेहतर बनाया जायेगा. फिल्ड में रहने वाले पुलिस अधिकारी गांव के लोगों से मिलें. वे पंचायत स्तर पर सुरक्षा व विकास से संबंधित जानकारी लें और डीसी के माध्यम से समन्वय स्थापित कर निदान करायें. जेल की सुरक्षा पर भी चर्चा की गयी. सभी एसपी से फीडबैक लिया गयी, जो मुख्यालय स्तर पर दूर की जायेगी. बहुत जल्द संसाधनों की कमी भी दूर की जायेगी.

सारठ समेत संताल के पांच नये पुलिस अनुमंडल

डीजीपी ने कहा संताल परगना में पांच नये पुलिस अनुमंडल के प्रस्ताव को स्वीकृति देकर पद सृजन के लिए भेजा गया है. बहुत जल्द देवघर जिले का सारठ नया पुलिस अनुमंडल के तौर पर कार्य करने लगेगा. वित्तीय वर्ष 2016-2017 व 2017-2018 में 22 हजार नियुक्तियां होगी. संताल में पहली बार आदिम जनजाति बटालियन का गठन किया गया है. तीन आइआर बटालियन के गठन की प्रक्रिया चल रही है. 10 हजार रिक्तियां के लिए परीक्षा हो चुकी है. चार सौ एसआइ का रिजल्ट जारी हो गया, जो प्रशिक्षण के लिए पीटीसी पदमा में योगदान देंगे. तीन हजार नये एसआइ बहाली का रिजल्ट आया है. उनलोगों का फिजिकल व मेडिकल होना है.

सारठ समेत संताल के पांच नये पुलिस अनुमंडल

बाबा मंदिर की सुरक्षा के अलग विंग की तैयारी है. इस संबंध में श्राइन बोर्ड से स्वीकृति मिलते ही प्रक्रिया शुरू कर दी जायेगी. नियंत्रण के लिए एसपी व डीएसपी स्तर के एक अलग पदाधिकारी की भी तैनाती होगी.

साइबर ठगों पर कस रहा शिकंजा:-डीजीपी ने कहा कि देवघर व जामताड़ा जिले में साइबर थाने खुल चुके हैं. अलग से साइबर डीएसपी की प्रतिनियुक्ति भी है. साइबर अपराध पर अंकुश लगाने के लिए अलग से काम भी चल रहे हैं. काफी संख्या में अपराधियों की गिरफ्तारी हुई है. संपत्ति अटैच किये जा रहे हैं. देवघर में दो साइबर अपराधियों को सजा भी दिलायी गयी. स्पीडी ट्रायल चल रहा है. साइबर अपराध के तरीके बदले हैं. आधार नंबर व नेट के जरिये क्राइम हो रहा है. ऐसे में वाट्सअप, फेसबुक व ट्विटर जैसे सोशल साइटस के प्रयोग करने वाले लोग सावधानी बरतें. बैठक में एडीजी अनुराग गुप्ता, आरके मल्लिक, आइजी अरुण कुमार सिंह, सुमन गुप्ता, डीआइजी अखिलेश झा, डीसी राहुल कुमार सिन्हा, देवघर एसपी नरेंद्र कुमार सिंह, दुमका एसपी किशोर कौशल, गोड्डा एसपी राजीव रंजन, साहेबगंज एसपी धनंजय कुमार सिंह, पाकुड़ एसपी शैलेंद्र वर्णवाल, जामताड़ा एसपी जया राय, देवघर एसडीपीओ दीपक कुमार पांडेय, मधुपुर एसडीपीओ अशोक कुमार सिंह, डीएसपी मुख्यालय राजकिशोर, सीसीआर डीएसपी रविकांत भूषण, सीआइडी, विशेष शाखा के वरीय अधिकारी व अन्य मौजूद थे.