Yo Diary

15 नक्सलियों को गिरफ्तार करने में इस तरह मिली सफलता

जागरण संवाददाता, गिरिडीह।सीआरपीएफ एवं गिरिडीह जिला पुलिस की संयुक्त टीम ने डुमरी थाना क्षेत्र के अकबकीटांड़ गांव को चारों तरफ से अपने कब्जे में ले लिया है। अलग-अलग टीम में बंटी पुलिस पूरे गांव को खंगाल रही है। जगह-जगह पुलिस बल तैनात हैं, टीम में शामिल कुछ पुलिस कर्मी घरों की छतों पर मोर्चा संभाल रखे हैं तो कुछ घरों के अंदर तलाशी ले रहे हैं। 24 घंटे से जारी सर्च अभियान के दौरान पुलिस ने जहां चार महिला समेत 15 नक्सलियों को गिरफ्तार किया है वहीं हथियारों का जखीरा भी बरामद किया गया है। गिरफ्तार नक्सलियों में सुनील मुर्मू 25 लाख, चार्लीस उर्फ शेखर उर्फ दिनेश पांच लाख एवं सोहन भुइयां पांच लाख रुपये का इनामी नक्सली है। इसके अलावा गिरफ्तार दो अन्य नक्सली भी इनामी हैं। इनमें सोहन भुइयां हजारीबाग के केरेडारी का रहने वाला है।

नक्सली घटना को लेकर वह हजारीबाग जेल में रह चुका है। वह तीन साल पूर्व जमानत पर जेल से निकला था और वापस जंगल लौट गया था। गिरफ्तार नक्सलियों में कुछ नाबालिग भी हैं। इसे झारखंड एवं बिहार में अबतक हासिल की गई सबसे बड़ी नक्सली सफलता के रूप में देखा जा रहा है। पूरे क्षेत्र की घेराबंदी कर लगातार 24 घंटे से अधिक समय से छापेमारी एवं पूछताछ चल रही है। पुलिस को अब भी पारसनाथ जोन के प्रभारी एवं 15 लाख रुपये के इनामी कृष्णा मांझी एवं वीरसेन की तलाश है। दोनों कुख्यात नक्सली हैं।

वीरसेन करीब तीन साल पूर्व चाईबासा जेल ब्रेक कर अपने दो सहयोगियों समेत फरार हो गया था। पुलिस को मिली यह भारी सफलता गिरिडीह के एसपी सुरेंद्र कुमार झा एवं एएसपी ऑपरेशन दीपक कुमार के नेतृत्व में हासिल हुई है। संभावना जताई जा रही है कि बुधवार को राज्य के बड़े पुलिस अधिकारी भी गिरिडीह पहुंचेंगे। उसके बाद ही पुलिस विस्तार से जानकारी देगी। इस ऑपरेशन की सबसे बड़ी कामयाबी यह रही कि बिना एक गोली चलाए पुलिस ने कुख्यात नक्सलियों को गिरफ्तार कर हथियारों की बरामदगी की है।

इस तरह मिली सफलता

एसपी को मिली गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस एवं सीआरपीएफ की टीम छापेमारी करने सोमवार को अपराह्न साढ़े तीन बजे अकबकीटांड़ पहुंची थी। पीरटांड़ एवं डुमरी प्रखंड की सीमा पर स्थित इस गांव में जब पुलिस पहुंची तो उसे भी अनुमान नहीं था कि इतनी बड़ी सफलता हासिल होगी। पुलिस ने एक संदिग्ध व्यक्ति को दबोचा और उसके साथ ही पूरा दस्ता पुलिस के शिकंजे में फंस गया। पुलिस एके 47, एसएलआर, राइफल समेत 13 हथियार एवं भारी मात्रा में गोली, डेटोनेटर, हैंड ग्रेनेट आदि बरामद कर चुकी है।

इस तरह मिली सफलता