Yo Diary

Hazaribagh : बारेदा जंगल की झाड़ियों में ‘प्रकट’ हुआ ताजपुर मंदिर से गायब हुआ शिवलिंग

चौपारण :हजारीबाग जिला के चौपारण प्रखंड के ताजपुर मंदिर से चुरायी गयी शिवलिंग बरामद हो गया है. 25 फरवरी को चोरी हुआ शिवलिंग बारेदा जंगल की झाड़ी में मिला. प्रशासन की टीम बारेदा जंगल पहुंच गयी है और मामले की जांच शुरू कर दी है.

ज्ञात हो कि शिवलिंग की चोरी के बाद पुलिस और पब्लिक के बीच झड़प हो गयी थी. लोगों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज करना पड़ा था. इसके बाद गुस्साये लोगों ने पुलिस पर पत्थरों से हमला कर दिया था. तनाव को देखते हुए ताजपुर में कुछ देर के लिए निषेधाज्ञा लगानी पड़ी थी. हालांकि, बाद में पुलिस, प्रशासन और स्थानीय लोगों ने सूझ-बूझ का परिचय दिया और स्थिति को संभाला.

यहां बताना प्रासंगिक होगा कि ताजपुर शिव मंदिर के बारे में एक कथा प्रचलित है. कहते हैं कि जिस जगह शिव मंदिर है, वहां कभी विशाल बरगद का पेड़ हुआ करता था. उसी पेड़ को चीरतकर शिवलिंग प्रकट हुआ. गाय चराने गये एक चरवाहा ने देखा कि एक गाय चार-पांच दिन से दूध नहीं दे रही है. लोगों ने इसकी पड़ताल की, तो मालूम हुआ कि गाय हर दिन चरते-चरते जाती और शिवलिंग पर दूध अर्पित कर देती. उसने आकर गांव के लोगों को इसके बारे में बताया.

इसके बाद लोगों ने शिवलिंग की पूजा-अर्चना शुरू कर दी. जैसे-जैसे दिन बीता, शिवलिंग की महत्ता बढ़ती गयी. बाद में वहां मंदिर की स्थापना की गयी. कहते हैं कि चौपारण क्षेत्र के सबसे प्रचीनतम मंदिरों में एक इस मंदिर में माथा टेकने वालों की सारी मुरादें पूरी होती हैं. मंदिर के सामने बड़ा छठ घाट है. यहां छठ के मौके पर दूर-दूर से छठव्रती भगवान भाष्कर को अर्घ देने आते हैं.