Yo Diary

जेलर पर महिला कक्षपालों से दुर्व्‍यवहार का आरोप, जांच करने पहुंची महिला आयोग की टीम

मंडल कारा के तीन महिला कक्षपालों के साथ बीते दो मार्च की रात्रि को प्रभारी जेलर मो. सैयद गुलाम दानिश के द्वारा कथित रूप से किये गये दुर्व्यवहार मामले की जांच के लिए मंगलवार को राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कल्याणी शरण के नेतृत्व में आयोग की टीम कोडरमा पहुंची. अध्यक्ष के नेतृत्व में टीम ने मंडल कारा जाकर पूरे मामले की जानकारी ली.

टीम के द्वारा पीड़ित कक्षपालों से घटना की जानकारी ली गयी. इसके पूर्व स्थानीय परिसदन भवन में पत्रकारों से बातचीत के क्रम में आयोग की अध्यक्ष कल्याणी शरण ने कहा कि दुर्व्यवहार मामले को लेकर आयोग काफी गंभीर है, लेकिन जब तक पीड़ित पक्ष से पूरे मामले की जानकारी नहीं मिल जाती तब तक कुछ भी कहना गलत होगा.

हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि यदि घटना सत्य होगी तो दोषी जेलर के खिलाफ जब तक कड़ी कार्रवाई नहीं हो जायेगी तब तक आयोग चुप नहीं बैठेगा. एक सवाल के जवाब में आयोग की अध्यक्ष ने कहा कि महिला उत्पीड़न से संबंधित मामले प्रकाश में आने के बाद आयोग त्वरित कार्रवाई के लिए गंभीर रहता है. यदि इस प्रकार का माहौल रहा तो कामकाजी महिलाएं किस प्रकार ड्यूटी कर पायेंगी. मौके पर आयोग की सदस्य पूनम प्रकाश, प्रभारी जेल अधीक्षक सह अपर समाहर्ता प्रवीण कुमार गागराई, एसडीपीओ अनिल शंकर आदि मौजूद थे.

ज्ञात हो कि मंडल कारा के तीन महिला कक्षपाल सुषमा पन्ना, दीप्ति रजनी व शांता मिंज ने प्रभारी जेलर मो. सैयद गुलाम दानिश पर बीते दो मार्च की रात्रि को दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई के लिए प्रभारी जेल अधीक्षक, एसपी कोडरमा, राज्य महिला आयोग व मुख्यमंत्री से लिखित शिकायत की थी. उक्त शिकायत के आलोक में कारा महानिरीक्षक हर्ष मंगला ने पांच मार्च को तत्काल प्रभाव से प्रभारी जेलर को निलंबित कर दिया था.