Yo Diary

झारखंड : खूंटी के अड़की स्थित कुरूंगा गांव की घटना, ग्रामीणों का उग्र रूप देख लौटे जवान, रोका छापेमा

खूंटी :खूंटी के अड़की स्थित कुरूंगा गांव के निकट ग्रामीणों ने करीब 20 मिनट तक सीआरपीएफ के जवानों को जबरन रोके रखा. बताया जाता है कि बीरबांकी में तैनात सीआरपीएफ की एक टुकड़ी छापेमारी अभियान के तहत कोचांग गांव जा रही थी. जवान जैसे ही कोचांग से पूर्व पहुंचे, काफी संख्या में ग्रामीणों ने उन्हें घेर लिया. ग्रामीणों ने उन्हें आगे जाने से रोक दिया. ग्रामीणों ने करीब 20 मिनट तक सीआरपीएफ के जवानों को घेरे रखा. इसके बाद दोबारा इस क्षेत्र में नहीं आने की चेतावनी देकर छोड़ दिया. बताया जाता है कि ग्रामीण तीन-धनुष से लैस थे. ग्रामीणों के उग्र तेवर को देख कर छापेमारी अभियान पर निकली सीआरपीएफ की टीम आगे नहीं गयी और बीरबांकी स्थित अपने कैंप में वापस लौट गयी. घटना को लेकर जिला पुलिस के वरीय अधिकारियों से संपर्क किया, पर किसी ने इसकी पुष्टि नहीं की है.

इससे पहले 21 फरवरी को कुरूंगा में ग्रामीणों ने जिला पुलिस व सीआरपीएफ की टीम को करीब छह घंटे तक बंधक बना रखा था. बाद में पूछताछ के लिए हिरासत में लिये गये ग्राम प्रधान सागर मुंडा को मुक्त करने पर ग्रामीणों ने जवानों को छोड़ा था. जवानों को छुड़वाने के लिए डीसी सूरज कुमार व एसपी अश्विनी सिंहा को भी कुरूंगा गांव जाना पड़ा था.