Yo Diary

Pari Movie Review: अनुष्का की दमदार एक्टिंग, डरावनी फिल्मों की तरह भूतिया ड्रामे नहीं

नई दिल्ली: फ़िल्म परी की कहानी शुरू होती है जहां एक परिवार अपने बेटे अर्णब यानी प्रम्बरता चटर्जी की शादी के लिए एक लडक़ी देख कर लौट रहा है और अचानक उसकी कार से एक महिला टकराती है और उसकी मौत हो जाती है. वो महिला एक ईफरित यानी शैतान है जिसकी बेटी है परी यानी अनुष्का शर्मा. अबतक किसी को भी नही मालूम है कि ये मां बेटी शैतान हैं इसलिये अर्णब उस अकेली लड़की की मदद के लिए अपने घर में लाता है.

फिल्म की खासियत

ये एक बॉलीवुड हॉरर फिल्म है जिसकी सबसे खास बात ये है कि इस फ़िल्म में आम डरावनी फिल्मों की तरह भूतिया ड्रामे नहीं हैं. कोई भूत या शैतान किसी से बदला लेने के लिए डरावने चेहरे नहीं बना रहा है. इस कहानी में एक ईफ़रित यानी शैतान अपनी जान बचा रही है. फ़िल्म को डरावना बनाने के बहुत सारे एलिमेंट्स हैं.

कई जगह डराने वाले बैकग्राउंड म्यूजिक हैं जो वाकई डराते हैं. कई दृश्य वाकई डरावने हैं और कहानी अच्छे से आगे बढ़ती है. प्रोसित राय का निर्देशन अच्छा है. फ़िल्म का सस्पेन्स भी अच्छा है और कुछ इमोशनल सीन भी हैं. अनुष्का शर्मा, प्रम्बरता चटर्जी और रजत कपूर का दमदार अभिनय है.

फिल्म की खामियां

फ़िल्म की खामियों की अगर बात करें तो कुछ दृश्य बिना मतलब के डाले हैं और जरूरत से ज्यादा लंबे भी हैं. बीच मे फ़िल्म थोड़ी ड्रैग भी करती है मगर इन सबके बावजूद फ़िल्म में एक बात जो मेरी समझ मे आती है वो ये है कि प्यार शैतान को भी इंसान बना देता है.

फिल्म की खामियां

अर्णब की मंगेतर ये जानती है कि वो एक गर्भवती शैतान की मदद कर रही है और उसकी कोख से जन्म लेने वाला बच्चा भी शैतान होगा. वो उन्हें मारना चाहती है मगर हथियार फेंक उस शैतान की डिलिवरी करवाती है. इस फ़िल्म के लिए मेरी रेटिंग है 3 स्टार.