Yo Diary

रजनीकांत भरा करते थे इस बच्चे की स्कूल की फीस, सुपरस्टार के लिए ये बच्चा आज करता है बड़ा काम

साउथ फिल्म इंडस्ट्री के नगीने रजनीकांत अपनी फिल्मों से ही नहीं बल्कि अपने सामाजिक भलाई के कार्यों के लिए भी देशभर में मशहूर हैं। उनकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि वह नेकी का काम बिना की किसी पब्लिसिटी के करते हैं। गौरतलब है कि पिछले दो दशकों मे ंऐसे कई किस्से हुए हैं जिस दौरान वह कई जरूरतमंदो की मदद कर चुके हैं। ऐसे में एक माधी नाम का शख्स है जिसकी मदद रजनीकांत ने की थी...आइए जानते माधी के बारे में...

माधी का काम पोस्टर्स और बैनर्स डिजाइन कर उन्हें तैयार करने का है। इसमें खास बात यह है कि रजनीकांत की फिल्मों के बैनर्स के लिए माधी को ही एप्रोच किया जाता है। हाल ही में माधी ने एक इंटरव्यू दिया था जिसमें उन्होंने रजनीकांत के बारे में कई सारी बातें बताई...

माधी ने बताया 'मेरी मां रजनी सर के यहां काम करती थीं, मेरा परिवार बेहद गरीब तबके का है, जब मां रजनी सर के यहां काम कर रही थी तो रजनी सर ने मेरी स्कूल की फीस का जिम्मा उठाया था, बता दूं कि मेरे दादाजी एक कॉर्पोरेशन के लिए काम करते थे जिसके चलते वह रजनी सर और जयललिता के घर के आस-पास सफाई किया करते थे,

ऐसे में उन्हें रजनी सर के घर के अंदर की सफाई करने का भी मौका मिल जाया करता था, फिर धीरे-धीरे रजनी सर और मेरे दादाजी में बातचीत शुरू होने लगी, इसके बाद हर साल दिवाली पर हम रजनी सर के घर जाने लगे थे, इस मौके पर वह हमे मिठाईयां और नए कपड़े दिया करते थे, एक बार दादाजी को पूरे परिवार के साथ रजनी सर ने अपने घर बुलाया था, उस दौरान उनके घर पर काफी भीड़ थी,

जब रजनी सर एक घर पहुंचे तो लोगों ने उनके पैर छूने शुरू कर दिए लेकिन उन्हें ये बात पसंद नहीं आई, ऐसे में रजनी सर ने हमे उस भरी भीड़ में ही पहचान लिया और ऊपर आने के लिए बोला, .यही मौका था कि हमने उनके साथ बहुत अच्छा समय बिताया और उन्ही की बदौलत ही आज मुझे अच्छी शिक्षा मिल सकी है, ऐसे में मेरे अंदर उनके एहसान चुकाने का भाव आया और मैंने रजनी सर की फिल्मों के पोस्टर्स और बैनर्स बनाना शुरू किया और मैं ऐसा करके बेहद खुश हूं।'