Yo Diary


The Quotes are powered by Investing.com India

कॉन्क्लेव: लोकतंत्र बचाने के लिए भारत-अमेरिका को साथ आना होगा: हिलेरी

राहुल मिश्र @aajtak मुंबईइंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2018 के पहले दिन जहां इंडिया टुडे ग्रुप के चेयरमैन अरुण पुरी ने कहा कि पूरी दुनिया इस वक्त बड़े उलटफेर के दौर से गुजर रही है, वहीं यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दावा किया कि 2019 में कांग्रेस एक बार फिर सत्ता में वापसी आएगी, मोदी सरकार को हार मिलेगी.

कॉन्क्लेव दूसरे दिन फेसबुक के बिजनेस डेवलपमेंट वाइस प्रेसिडेंट ऐश झावेरी और केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने विचार रखे. जबकि कार्यक्रम के अंत में हिलेरी क्लिंटन ने जोरदार भाषण दिया और लोकतंत्र पर संभावित खतरे को देखते हुए भारत और अमेरिका के साथ आने पर जोर दिया. क्लिंटन के भाषण के साथ ही दो दिवसीय कॉन्क्लेव के 17वें संस्करण का शानदार समापन हो गया. कॉन्क्लेव के मंच से हार्दिक पटेल ने कहा यह ठीक है कि वह पटेल समुदाय के आरक्षण की बात करते हैं लेकिन वह किसी अन्य समुदाय को दिए जा रहे आरक्षण का विरोध नहीं करते. कन्हैया कुमार और शेहला राशिद ने कहा कि मोदी सरकार विरोध को बरदाश्त नही कर पाती है. कॉन्क्लेव के आगे के सत्र में करिश्मा कपूर, करीना कपूर और नीता अंबानी समेत कई जानी-मानी हस्तियां शिरकत करेंगी.

तेरहवां सत्र: दि ग्रेट चर्न- वॉट हैपेन्स नाउ

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2018 के प्रमुख और अंतिम सत्र दि ग्रेट चर्न- व्हाट हैपेन्स नाउ में अमेरिका की पूर्व सेक्रेटरी ऑफ स्टेट हिलेरी क्लिंटन ने शिरकत की. हिलेरी क्लिंटन ने कहा भारत उनके और उनके परिवार के दिल में खास जगह रखता है. हिलेरी ने कहा कि मौजूदा समय में दुनिया में बहुत कुछ हो रहा है और ऐसे समय में भारत को इन सब के केन्द्र में रहने की जरूरत है. हिलेरी ने कहा कि वह 13 साल पहले बतौर सिनेटर इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में शरीक हुई थीं. हिलेरी ने कहा अमेरिकी राष्ट्रपति पद के चुनाव में उनकी प्रचार टीम में कई भारतीय शामिल थे. हिलेरी ने बताया कि वह क्यों अमेरिका की राष्ट्रपति नहीं बन पाईं पर एक किताब लिखी है वॉट हैपेंड लिखी है जिसमें उन्होंने उन कारणों का जिक्र किया है जिसने उन्हें राष्ट्रपति बनने से रोक लिया. हिलेरी ने कहा कि भारत और अमेरिका के बीच दोस्ती शेयर्ड गोल्स पर आधारित है. दोनों देशों को ज्यादा से ज्यादा लोगों को गरीबी के दलदल से बाहर निकालना है. दोनों देशों के सामने एक जैसे आंतकवाद का खतरा है. हिलेरी ने कहा कि रूस ने उनके चुनाव प्रचार को खराब किया. उनकी इमेज को रूस की दख्लंद

वोट ऑफ थैंक्स

डिया टुडे ग्रुप की वाइस चेयरपर्सन कली पुरी ने कहा कि कॉन्क्लेव 2018 का थीम दि बिग चर्न था. कली ने कहा कि जिस बिग चर्न ने उन्हें प्रभावित किया वह है टाइम्स अप मूवमेंट है. इस मूवमेंट में इंडिया टुडे समूह पूरे पूरी तन्मयता से शामिल रहा है. इन शब्दों के साथ कली पुरी ने दो दिन तक चले इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2018 में शरीक हुए सभी मेहमानों का शुक्रिया अदा किया और कॉन्क्लेव के अंतिम सत्र में अमेरिका की पूर्व सेक्रेटरी ऑफ स्टेट हिलेरी क्लिंटन का कीनोट एड्रेस के लिए स्वागत किया

वोट ऑफ थैंक्स

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2018 के खास सत्र दि ग्रेट ईक्वलाइजर- स्पोर्ट्स एंड एजुकेशन फॉर ऑल में रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन एंड फाउंडर नीता अंबानी ने शिरकत की. इस सत्र का संचालन इंडिया टुडे की वाइस चेयरपर्सन कली पुरी ने किया. नीता अंबानी ने कहा कि स्पोर्ट्स और एजुकेशन दो पिलर्स हैं जिसपर कल का भारत निर्भर करता है. नीता ने कहा कि 8 मार्च को पूरी दुनिया ने वुमन्स डे सेलिब्रेट किया लेकिन वुमन्स को एक दिन या एक महीने तक सीमित नहीं रखना चाहिए और उन्हें पूरे साल सेलिब्रेट करने की जरूरत है. नीता अंबानी ने सत्र के दौरान बताया कि रिलायंस फाउंडेशन पूरे देश में स्पोर्ट्स और एजुकेशन के क्षेत्र में महिलाओं और खासतौर पर युवाओं को आगे लाने का काम कर रहा है. नीता अंबानी ने कहा कि भारत ओलंपिक खेलों को होस्ट कर सकता है. नीता ने कहा कि हमें पहले 2026 यूथ ओलंपिक को भारत में कराने के लिए एकजुट होने की है. यूथ ओलंपिक में खिलाड़ियों की अधिकतम उम्र 15 साल है. लिहाजा हमें आज से 7 साल के बच्चों को 2026 के यूथ ओलंपिक के लिए तैयार करने की जरूरत है. नीता ने बताया कि इसी तर्ज पर चीन ने ओलंपिक में अपनी न सिर्फ जगह बन

ग्यारहवां सत्र: दि कपूर क्लैन- फिल्म्स, फैमिसी, फेमिनिज्म:- इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2018 के अहम सत्र दि कपूर क्लैन- फिल्म्स, फैमिसी, फेमिनिज्म में एक्टर करिश्मा कपूर और करीना कपूर ने शिरकत की. इस सत्र का संचालन राजदीप सरदेसाई ने किया. करिश्मा कपूर ने कहा कि इस मुकाम पर पहुंचने के लिए उनके परिवार से ज्यादा उनकी मेहनत काम आई है. करिश्मा के मुताबिक एक बार सिल्वर स्क्रीन पर आने के बाद परिवार की मदद बेमानी हो जाती है. इस सत्र में राजदीप ने पूछा कि आखिर क्यों कपूर परिवार में बहू बनने के बाद फिल्मी सफर रुक जाता है लेकिन उसी परिवार की बेटियों ने एक शानदार सफर तय किया? करिश्मा ने कहा कि उनके परिवार में किसी बहू को फिल्मी करियर छोड़ने के लिए नहीं कहा गया. बल्कि शादी के बाद बहुओं ने अपनी इच्छा से फिल्म छोड़ा था. करीना कपूर ने कहा कि उनके पिता हमेशा फिल्मों में काम करने को लेकर सपोर्ट करते थे. स्टार बनने के बाद प्राइवेसी पर कैसे असर पड़ता है और कैसे आप लोग एडजस्ट करती हैं. करिश्मा ने कहा कि शुरू में मैं परेशान हो जाती थी. सेक्सी सेक्सी मुझे लोग बोले सॉन्ग के बाद में परेशान हुई थी लेकिन फिर एहसास