Yo Diary


The Quotes are powered by Investing.com India

फेसबुक को उतने का नुकसान हुआ है जितने में अंबानी जी एक और रिलायंस खरीद लेते

मौसम. इसके बारे में ये कहा जाता है कि अगर एरिज़ोना के जंगलों में कोई तितली बिलकुल ठीक समय पर पंख फड़फड़ा दे तो इंग्लैंड में भी चक्रवात आ सकता है. इसे बटरफ्लाई इफेक्ट कहते हैं. एसे ही शेयर मार्केट है. इसके बारे में ये कहा जाता है कि अगर किसी कंपनी के सीईओ को छींक आ जाए तो उस कंपनी के शेयर मिनटों में धड़ाम हो जाते हैं. एक दिन में लोगों को अरबपति से कंगाल और कंगाल से अरबपति होते देखा गया है, इस शेयर मार्केट में. इस तरह से शेयर मार्केट ‘हाईली वोलेटाइल’ यानी बहुत ज़्यादा उतार-चढ़ाव वाला होता है. फिर वो चाहे भारत का शेयर मार्केट हो या विश्व में कहीं का.

लेकिन इस ‘बहुत ज़्यादा उतार चढ़ाव’ वाली फ़ील्ड में भी जो कल हुआ वो कहीं से भी सामान्य नहीं है. फेसबुक के शेयर कल एक ही दिन में तकरीबन 20% गिर गए. और इससे फेसबुक की नेट-वर्थ में से 8.56 लाख करोड़ रुपए कम हो गए. अगर आपको ये सामान्य लगता है तो ज़रा ध्यान दीजिए. ये अमेरिका के शेयर मार्केट इतिहास का सबसे बड़ा फ्री फॉल है. मतलब सबसे बड़ी गिरावट. कंपनी की तो छोड़िए अकेले सीईओ ज़ुकरबर्ग के जेब से 16 अरब डॉलर माने 10,97,24,00,00,000 रुपए निकल गए. वो भी एक दिन में. ये इतने पैसे हैं जितने में दुनिया के 81वें सबसे अमीर व्यक्ति कंगाल हो जाए क्योंकि उसकी कुल संपत्ति तकरीबन इतनी ही है.

तो हुआ क्या

दरअसल बुधवार को फेसबुक के अप्रैल से जून की तिमाही के नतीजे आए. इसमें सब्सक्राइबर्स की संख्या घटना सामने आया और आगे की ग्रोथ भी धीमी रहने का अनुमान लगाया गया. ऐसे में निवेशक चौकन्ने हो गए और फेसबुक के शेयर्स से पैसा निकालना शुरू कर दिया. इससे बुधवार 25 जुलाई से फेसबुक के शेयरों में गिरावट का दौर शुरू हो गया. अगले दिन गुरुवार को भी यह गिरावट जारी रही जिससे फेसबुक ने अमेरिकी बाजार के इतिहास में एक दिन में किसी भी कंपनी की मार्केट वैल्यू में सबसे बड़ी गिरावट का रिकॉर्ड बना दिया. गुरुवार को फेसबुक के शेयरों में 19.6 फीसदी की गिरावट आई. इस गिरावट ने फेसबुक के मार्केट कैप को 119 अरब डॉलर (8170 अरब रुपये) नीचे ला दिया.

फेसबुक की मार्केट कैप में आई यह गिरावट भारत की सबसे बड़ी कंपनी टीसीएस, इन्फोसिस और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के मार्केट कैप से भी ज्यादा है. इस ऐतिहासिक गिरावट ने न सिर्फ कंपनी का मार्केट कैप घटाया है, बल्क‍ि मार्क की संपत्ति भी घटाई है. मार्क की दौलत घट कर 70.6 अरब डॉलर (तकरीबन 4847 अरब रुपये) पर पहुंच गई. दुनिया के अमीरों की लिस्ट में भी वो चौथे से छठे नंबर पर पहुंच गए हैं.

फेसबुक से पहले एक दिन में सबसे बड़ी गिरावट साल 2000 में इंटेल कंपनी के शेयर्स में हुई थी. तब इंटेल के मार्केट कैप में 90.73 अरब डॉलर (तकरीबन 6229 अरब रुपये) की गिरावट आई थी. फेसबुक में ऐसी बड़ी गिरावट 2012 में भी आई थी तब फेसबुक के शेयर एक दिन में 12% गिर गए थे.