Yo Diary


The Quotes are powered by Investing.com India

रेलवे के साथ बिजनेस करने का मौका, होगी बंपर कमाई

यदि आप बिजनेस करने के शौकीन हैं तो आपको एक मौका मिलने वाला है। यह मौका कोई और नहीं बल्कि भारतीय रेलवे की तरफ से दिया जा रहा है। इंडियन रेलवे से जुड़कर आप अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं। भारतीय रेलवे की IRCTC के द्वारा रेल ट्रेवल सर्विस एजेंट (RTSA) की नियुक्ति की जा रही है, ये एजेंट अपने शहर में ऑनलाइन रेल टिकट बुकिंग कर सकते हैं, जिसके बदले उन्‍हें अच्‍छा खासा कमीशन भी दिया जाएगा। तो आइए इस बिजनेस के बारे में आपको थोड़ा विस्‍तार से बताते हैं।

रेल ट्रेवल सर्विस एजेंट के बारे में

आपको बता दें कि हर शहर में आईआरसीटीसी के कुछ अधिकृत एजेंट नियुक्‍त किए जाते हैं ये एजेंट्स अपने शहर से IRCTC की वेबसाइट पर लॉगिन करके ऑनलाइन टिकट बुकिंग कर सकते हैं। इसके लिए उन्‍हें अलग से आईडी भी दी जाती है। साथ ही टिकट बुकिंग के बदले में उन्‍हें कमीशन भी दिया जाता है।

जमा करने होंगे 20 हजार रुपए

रेल ट्रैवल सर्विस एजेंट बनने के लिए आपको पहली बार में केवल 20 हजार रुपए जमा कराने होंगे। साथ ही इसमें 10 रुपए बतौर सिक्‍योरिटी भी जमा की जाती है, जो कि रिफंडेबल होगी। इसके अलावा 20,000 रुपए का आईआरसीटीसी के नाम पर डिमांड ड्राफ्ट बनवाना होगा, तो वहीं एजेंट रिन्‍युअल के तौर पर हर साल 5000 रुपए देने होंगे।

इस तरह से मिलेगा कमीशन

रेल ट्रेवल सर्विस एजेंट का कमीशन आईआरसीटीसी ने तय किया हुआ है। रेल ट्रेवल सर्विस एजेंट (RTSA) को एजेंसी के तौर पर कमीशन दिया जा सकता है। टिकट बुकिंग के दौरान आप स्लीपर क्‍लास की टिकट पर अधिकतम 30 रुपए और एसी टिकट पर अधिकतम 60 रुपए प्रति टिकट कस्‍टमर्स से वसूल कर सकते हैं जो कि टिकट की कीमत से अधिक चार्ज होगा और इसमें सर्विस टैक्‍स अलग होगा।

इस तरह से मिलेगा कमीशन

सबसे पहले तो आपको रेल ट्रैवल सर्विस एजेंट बनने के लिए क्‍लास पर्सनल डिजिटल सर्टिफिकेट लेना होगा। यह सर्टिफिकेट किसी भी इंडियन सर्टिफाइंग अथॉरिटी से मिल जाएगा। उसके बाद रेलवे का अधिकृत एजेंट बनने के लिए आपको 100 रुपए के स्‍टाम्‍प पेपर पर एग्रीमेंट बनवाना होगा। साथ ही-

IRCTC के नाम पर 20 हजार रुपए का डिमांड ड्राफ्ट तैयार करना होगा। IRCTC का रिजस्‍ट्रेशन फॉर्म पर उसकी कॉपी लगानी होगी। क्‍लास थर्ड पर्सनल डिजिटल सर्टिफिकेट भी लेना होगा। संबंधित जोनल रेलवे से भी लेटर लेना होगा। पैन कार्ड, पिछले सालों की इनकम टैक्‍स रिटर्न और एड्रेस प्रूफ देना होगा।