Yo Diary


The Quotes are powered by Investing.com India

कब होगी बारिश, कब दस्तक देगा मॉनसून? इन राज्यों में पड़ेगी सबसे ज्यादा गर्मी

नई दिल्ली:मॉनसून को लेकर भारतीय मौसम विभाग अपना अनुमान पहले ही जारी कर चुका है. अब मौसम विभाग ने मई और जून महीनों में भयंकर गर्मी पड़ने का अनुमान लगाया है. हालांकि, मॉनसून सीजन के दौरान अच्छी बारिश की भी उम्मीद है. लेकिन, उससे पहले कई राज्यों को भयंकर गर्मी झुलसाएगी. वहीं, विभाग का मानना है कि मॉनसून को प्रभावित करने वाले मौसमी कारक अभी तक इसके अनुकूल चल रहे हैं.

कहां पड़ेगी सबसे ज्यादा गर्मी?

मौसम विभाग के मुताबिक मई और जून के दौरान देश में कई राज्यों में अधिकतम, औसत और न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक रहने की आशंका है. अधिकतम तापमान की बात करें तो मई, जून के दौरान जम्मू-कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और हिमाचल प्रदेश में यह सामान्य के मुकाबले 1 डिग्री या इससे अधिक ऊपर हो सकता है. उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और राजस्थान में इसके सामान्य से 0.5-1 डिग्री सेल्सियस ऊपर रहने का अनुमान है.

क्यों पड़ेगी इतनी गर्मी?

आईएमडी प्रमुख डी शिवानंद पई के मुताबिक, आने वाले दिनों में उत्तर भारत में आसमान पूरी तरह साफ रहेगा. साथ ही ऐंटी-साइक्लोनिक हवाओं से तापमान ज्यादा रहने का अनुमान है. सामान्य से ज्यादा तापमान ग्लोबल वॉर्मिंग का संकेत है. पई के मुताबिक, उत्तर और पूर्वी भारत में अधिकतम तापमान सामान्य के करीब रह सकता है, जो आसमान में बादल और क्षेत्र में प्री-मॉनसून बारिश का संकेत है.

गर्म हवाएं बढ़ाएंगी परेशानी

मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तर में तापमान सामान्य से ज्यादा रह सकता है, लेकिन यह पिछले साल के मुकाबले कम होगा. इस दौरान लोगों को गर्म हवाएं भी झेलनी पड़ेंगी. इसके अलावा रात के समय में भी तापमान सामान्य से ज्यादा रह सकता है. गर्मी का सबसे ज्यादा असर राजस्थान, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में दिखेगा.

गर्म हवाएं बढ़ाएंगी परेशानी

मौसम विभाग के मुताबिक, मॉनसून को प्रभावित करने वाला प्रशांत महासागर की सतह का तापमान अभी तक मॉनसून के अनुकूल है और यह वर्ष ला-नीना वर्ष रहने का अनुमान है. ला-नीना वर्ष होने की स्थिति में मानसून सीजन के दौरान सामान्य तौर पर अधिक बरसात होती है, वहीं अल-नीनो वर्ष होने पर मानसून सीजन के दौरान बारिश कम होने की आशंका बढ़ जाती है. यह वर्ष क्योंकि ला-नीना वर्ष रहने का अनुमान है ऐसे में मानसून सीजन के दौरान अच्छी बरसात होने की उम्मीद बढ़ गई है.मौसम विभाग ने मॉनसून की शुरुआत में पहुंचने की तिथियां जारी की हैं. ऐसे में मौसम विभाग के अनुसार, केरल में मानसून 1 जून तक पहुंचने की संभावना है. वहीं, दक्षिण भारत के कर्नाटक राज्य की राजधानी बंग्लुरु समेत आंध्र प्रदेश के हैदराबाद और पूर्वोत्तर के सिक्किम तक मॉनसून 5 जून तक पहुंच सकता है. वहीं, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, पश्चिम बंगाल और बिहार में 10 जून तक मॉनसून दस्तक देगा. इसके अलावा 15 जून तक गुजरात, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में मानसून पहुंचने की उम्मीद है.

दिल्ली में 29 जून को पहुंचेगा मॉनसून:-देश की राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में मॉनसून 29 जून तक पहुंच सकता है. इसके अलावा राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, और जम्मू-कश्मीर में भी मानसून 29 जून तक दस्तक दे सकता है. वहीं, मानसून के हरियाणा और पंजाब राज्य में पहुंचने के 1 जुलाई तक आसार हैं.