Yo Diary


The Quotes are powered by Investing.com India

डाक घर बन गया पेमेंट बैंक, लोगों को फ्री में मिलेंगी सारी सेवाएं

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)।इंडिया पोस्ट (भारतीय डाकघर) के पेमेंट बैंक ने अपनी सेवाएं 1 अप्रैल 2018 से ही देना शुरू कर दिया है। बड़े नेटवर्क के साथ यह देश का सबसे बड़ा पेमेंट बैंक होगा। देश में डेढ़ लाख से अधिक डाकघर हैं और ये सभी पेमेंट बैंक शाखा के रूप में काम करेंगे। गौरतलब है कि साल 2015 में आरबीआई ने इंडिया पोस्ट को पेमेंट बैंक के रूप में काम करने की सैद्धांतिक मंजूरी दी थी।

ग्राहकों को मिलेंगी ये सुविधाएं:

पेमेंट बैंक प्रत्येक खाताधारक से एक लाख रुपए तक की जमा राशि स्वीकार कर सकते हैं। कोई भी व्यक्ति या व्यावसायिक प्रतिष्ठान इसमें खाता खुलवा सकता है। पेमेंट बैंकों का संचालन सामान्य बैंकों के मुकाबले थोड़ा अलग ढंग से होता है। ये केवल जमा तथा विदेशों से भेजी जाने वाली विदेशी मुद्रा स्वीकार कर सकते हैं। इसके अलावा इन्हें इंटरनेट बैंकिंग तथा कुछ अन्य विशिष्ट सेवाएं प्रदान करने का अधिकार होता है। इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक 25 हजार रुपए तक की जमा पर 4.5 प्रतिशत की दर से ब्याज अदा करता है। जबकि 25 हजार से 50 हजार रुपए की राशि पर ब्याज दर 5 फीसद और 50 हजार से एक लाख रुपए की जमा पर 5.5 फीसद है।

पेमेंट बैंक में होंगे ये काम:

आईपीपीबी में ऋण को छोड़ लगभग सभी तरह की सेवाएं ग्राहकों को मुहैया कराई जाएंगी। यहा बचत और चालू खाता खुलेगा। केंद्रीयकृत व निजी बैंक की तरह डेबिट व क्रेडिट कार्ड, इंटरनेट-मोबाइल बैंकिंग, सभी प्रकार के बिल और टैक्स कलेक्शन, मनी ट्रासफर आदि सुविधाएं मिलेंगी।