Yo Diary

Offer Price 98/-

मांझी का बड़ा बयान- नीतीश ने पहले दूध दिया, फिर नींबू की तरह निचोड़ डाला

पटना [जेएनएन]। बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और हिन्‍दुस्‍तानी आवाम मोर्चा के अध्‍यक्ष जीतनराम मांझी ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि हमारी पार्टी को काेई साथ दे या न दे, बिहार में अकेले चुनाव लड़ेंगे। मांझी ने यह बयान गया जिले के टनकुप्‍पा में पार्टी के कार्यकर्ता सम्‍मेलन में दिया। साथ ही कहा कि नीतीश ने पहले हमें दूध दिया और फिर नींबू की तरह निचोड़ दिया।

बिहार में चुनाव होने में काफी समय बांकि है लेकिन अभी से ही सियासत तेज हो गई है। प्रदेश में राजनीतिक दलों ने पैंतरा दिखाना आरंभ कर दिया है। अपने कार्यक्रम और बयानों से राजग के घटक दल जहां भाजपा को आंखें दिखा रहे हैं। ऐसे में जीतनराम मांझी का यह बयान काफी अहम माना जा रहा है।

जीतनराम मांझी ने कहा है कि यदि बड़े राजनीतिक दलों को उन्हें साथ लेकर चलने की जरूरत है तो वे साथ देंगे अन्यथा, अकेले दम पर वे लोकसभा चुनाव लडऩे की तैयारी कर चुके हैं। बिहार विधानसभा चुनाव में भी उनका यही स्टैंड रहेगा। उनके विकल्प खुले हुए हैं। मांझी मंगलवार को शिवराम भारती उच्च विद्यालय, टनकुप्पा के प्रांगण में पार्टी के कार्यकर्ता सम्मेलन सह संकल्प सभा को संबोधित कर रहे थे। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने हमेशा सभी के लिए चिंता की है। वे पूरे राज्य में कार्यक्रम कर रहे हैं। जहां जाते हैं, लोग संकल्प ले रहे हैं। लोगों का झुकाव हम पार्टी की ओर बढ़ रहा है।

मांझी ने कहा कि मुख्यमंत्री रहते उन्होंने कई योजनाएं बनाई जिसकी चर्चा लंदन के ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में भी हुई। उन्हीं की बनाई योजनाओं को राज्य सरकार धीरे-धीरे लागू कर रही है। नीतीश कुमार उनके हितैषी हैं, उन्हीं की बदौलत मुख्यमंत्री बना। पूर्व मुख्यमंत्री ने मांदर बजाकर कार्यकर्ताओं से 18 फरवरी को गया और 8 अप्रैल को पटना में होने वाले पार्टी के कार्यक्रम में शामिल होने की अपील की।

इससे पहले पटना में भाजपा कार्यालय में एक कार्यक्रम के दौरान मीडिया के सवाल पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री और भाजपा नेता मंगल पांडेय ने कहा कि मांझी और कुशवाहा दोनों एनडीए के साथ हैं। बता दें कि इससे पहले जीतन राम मांझी ने कहा था कि उन्हें अगले विधानसभा चुनाव में कम से कम 50 सीटें चाहिए।