Yo Diary

Offer Price 98/-

बिहार रौनक हत्याकांड : डबडबायी आंखों से जब भाई ने किया पिंडदान, गमगीन माहौल में हुआ श्राद्ध

पटना सिटी :अगवा करने के बाद रौनक की हत्या के बारह दिन होने पर मंगलवार को डबडबायी आंखों से श्राद्ध का पिंडदान राहुल ने किया. श्राद्ध के हो रहे अनुष्ठान में शामिल नाते-रिश्तेदार के आंखों से आंसू बह रहे हैं. कुछ ऐसा ही दृश्य था कि रौनक के घर कुम्हरार पंचित बैठका चाणक्य नगर मुहल्ला स्थित पुश्तैनी मकान का. जहां पिता सुधीर कुमार, मां रंजू देवी, बहन सपना, बुआ सरिता देवी व चाचा मनोज के साथ नाना व नाते रिश्तेदार श्राद्ध के अनुष्ठान में शामिल हो रहे है. विधि-विधान करने में पिता के हाथ कांप रहे है, तो मां दहाड़ मार हो रही है. परिवार को एक ही उम्मीद है कि हत्या में शामिल लोगों के नामों का खुलासा पुलिस करे और दोषियों को स्पीडी ट्रायल से सजा हो ताकि दोषियों को जल्द सजा मिले.

लोगों के चेहरे पर था आक्रोश, लगाया आरोप, पुलिस कार्रवाई क्यों हो गयी सुस्त

श्राद्ध में जुटे लोगों के चेहरे पर आक्रोश दिख रहा था, लोगों का कहना था कि एसआईटी की टीम गठित होने के बाद पुलिस ने रिमांड पर लेकर विक्की व संदिग्ध से पूछताछ की, लेकिन रिमांड की मियाद खत्म होने के बाद विक्की के साथ उसके के रिश्ते हमउम्र चाचा अंकित उर्फ आशीष को भी गिरफ्तार कर जेल भेजा है. इसके बाद पुलिस कार्रवाई में सुस्त पड़ गयी है. बाबा झलक देव कुमार बताते है कि नार्को टेस्ट कराने की बात पुलिस ने कही थी,लेकिन अभी तक इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं हुई है. बताते चलें कि नार्को टेस्ट के लिए पुलिस को न्यायालय से अनुमति लेना होगा, इसके लिए मंगलवार को भी न्यायालय में पुलिस की ओर से आवेदन नहीं दिया गया. ऐसे में संभावना है कि बुधवार को पुलिस आवेदन दे सकती है. पुलिस सूत्रों की मानें तो पूर्व विधायक ओम प्रकाश पासवान के पुत्र परशुराम पासवान, जयराम, बिट्टू की गतिविधियों पर निगरानी रखी जा रही है.