Yo Diary

Offer Price 98/-

कैसे फिल्‍माया गया था 'पद्मावत' का जौहर सीन, कहानी रोमांचित करनेवाली है...?

डायरेक्‍टर संजय लीला भंसाली की विवादास्‍पद फिल्‍म 'पद्मावत' सिनेमाघरों में रिलीज हो ही गई. फिल्‍म के आखिरी और सबसे चर्चित सीन 'जौहर' को कैसे फिल्‍माया गया यह रोमांचित करनेवाला है. दीपिका खुद भी इस बात को स्‍वीकार करती हैं कि यह सीन उनके लिए सबसे चैलेजिंग भरा रहा. लेकिन यह भी हैरानीभरा है कि दीपिका ने जौहर के सबसे मुश्किल सीन को ए‍क टेक में पूरा कर लिया था. दीपिका ने अपने एक बयान में कहा था कि इस सीन को एक ही टेक में पूरा करने पर खुद भंसाली ने उनकी तारीफ की थी. जानें कैसे फिल्‍माया गया जौहर सीन... आखिरी सीन में दिखाया गया है कि रानी पद्मावती खुद को अलाउद्दीन खिलजी से बचाने के लिए राजपूत समाज की बाकी महिलाओं के साथ जौहर कर लेती हैं. कम ही लोग इस बात को जानते हैं कि कुछ मिनट्स के इस सीन को शूट करने के लिए 7 दिन का वक्‍त लगा था. भंसाली ने इस सीन पर सबसे ज्‍यादा मेहनत की थी. खुद दीपिका ने भी माना कि यह सीन उनके लिए भी सबसे मुश्किल भरा था.

दीपिका ने कहा था,' जौहर सीन को एक ही टेक में पूरा किया गया था. मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं लाइन्स भूल जाऊंगी. मैंने इस सीन के लिए काफी रिहर्सल भी की थी. जौहर का सीन करते वक्त सेट पर काफी इंटेंस मूमेंट था. हर कोई चुप था.' दीपिका ने आगे कहा था कि उनके लिए फिल्‍म में सबसे ज्‍यादा मुश्किल जौहर वाला सीन था. ऐसे सीन का शूट पूरा करना पूरी जिंदगी के सबसे बेहतरीन पलों में से एक था. राजपूत महिलाओं के साथ जलती आग की ओर

जैाहर के लिए बढ़ना, सबकुछ रोमांचित करनेवाला था. इस फिल्‍म का हिस्‍सा रही अभिनेत्री अनुप्रिया का कहना है कि इस सीन में उनके और दीपिका के अलावा लगभग 100 महिलाएं थीं, जिन्‍हें जौहर के लिए 70 सीढिया उतरना था. इस दौरान जरूरी था कि सभी महिलाओं के एक्‍सप्रेशंस एक जैसे हों. सीन को शूट करने में काफी लंबा समय लगा.