Yo Diary

Offer Price 98/-

ट्रेन से निकलती है कुत्तों के भौंकने की आवाज, जानें आखिर क्यों

जापान एक ऐसा देश जो अपने नित नये प्रयोग के लिए जाना जाता है. जापान में अभी हाल ही में एक ऐसी तकनीक विकसित की गयी है, जिससे न सिर्फ जानवरों को पटरी से दूर रखा जा सकता है, बल्कि ट्रेनों के साथ पशुओं के टकराने से होनेवाली हानि से भी बचा जा सकता है. दरअसल, जापान में इन दिनों हिरणों के ट्रेन से टकराने की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं. आंकड़ों के अनुसार, जापान में इन हादसों से हिरणों की संख्या में 40 प्रतिशत तक की कमी आयी है. इसे देखते हुए जापान के वन्य विभाग ने रेलवे मंत्रालय से संपर्क कर उन्हें इसका समाधान ढूंढ़ने को कहा. सुरक्षा के तौर पर रेलवे को पटरी के आसपास लोहे की बाड़ लगाने की सलाह दी गयी. लेकिन, जापान का रेलवे विभाग इससे संतुष्ट नहीं हुआ. यह तरीका कहीं से भी इस समस्या के स्थायी समाधान का रास्ता नहीं था. जापानी इसके लिए एक ऐसा तरीका चाहते थे, जिससे इस तरह की समस्या से हर जगह निबटा जा सके इस समस्या का समाधान निकालने के लिए संपर्क किया गया जापान की रेलवे तकनीकी अनुसंधान संस्थान से. संस्थान ने किसी नतीजे पर पहुंचने से पहले जंगलों में जाकर हिरणों की आदतों पर रिसर्च करने का विचार किया. इ

एक साल में 185 हिरणों की हो चुकी मौत

रेलवे के अधिकारियों ने जापान के स्थानीय समाचार पत्र असाही शिंबुन को बताया कि 2016-17 में टकराने से 185 हिरणों की मौत हुई और 613 बार ट्रेनों को 30 मिनट से लेकर एक घंटे तक रोकना पड़ा. अब इस नयी तकनीक के आ जाने से उन्हें आशा है कि अब इस तरह की दुर्घटनाओं में कमी आयेगी. इस साल जापान के सभी ट्रेनों में जानवरों की आवाज वाली हॉर्न का प्रयोग शुरू कर दिया जायेगा.