Yo Diary

Offer Price 98/-

मन की बात : पीएम मोदी ने बिना नाम लिये नीतीश के काम की फिर की तारीफ, जदयू गदगद

नयी दिल्ली/पटना : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को साल 2018 में मन की बात के पहले कार्यक्रम को आकाशवाणी से संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने पिछले सप्ताह 21 जनवरी को बिहार में दहेज प्रथा व बाल विवाह के खिलाफ बनायी गयी मानव शृंखला का उल्लेख किया और इसकी तारीफ की. उन्होंने इसके लिए राज्य के मुख्यमंत्री व जनता की तारीफ की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि समाज के सभी लोगों को विकास का लाभ मिले, इसके लिए कुरीतियों को समाप्त करना जरूरी है. प्रधानमंत्री की सराहना पाकर जनता दल यूनाइटेड गदगद है. जदयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने इस मुद्दे पर आज कहा कि हमाने नेता नीतीश कुमार ने सोशल रिफॉर्म का काम शुरू किया है. इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रकाश पर्व के दौरान राज्य में की गयी शराबबंदी की प्रशंसा की थी. वहीं, भाजपा नेता संजय टाइगर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा एक राज्य के मुख्यमंत्री के अच्छे काम की प्रशंसा करना पॉजिटिव राजनीति है

देश एवं समाज के विकास में महिलाओं की भूमिका को रेखांकित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि नारी शक्ति परिवार, सारे समाज और देश को एकता के सूत्र में बांधती है और हम सभी के लिए प्रेरणा की स्रोत हैं. मोदी ने कहा कि देश में हर क्षेत्र में महिलाएं आगे बढ़ रही हैं, गौरव बढ़ा रही हैं. सशक्तीकरण आत्मनिर्भरता का ही एक रूप है, आज नारी शक्ति सशक्त एवं आत्मर्निभर बन रही हैं.

हमारा लचीलापन हमारी विशेषता

आकाशवाणी पर प्रसारित ‘मन की बात' कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ बात है ऐसी कि हस्ती मिटती नहीं हमारी'. वो बात क्या है, वो बात है, लचीलापन, बदलाव.... जो काल-बाह्य है उसे छोड़ना, जो आवश्यक है उसका सुधार स्वीकार करना. उन्होंने कहा कि हमारे समाज की विशेषता है – आत्मसुधार करने का निरंतर प्रयास. आत्म सुधार भारतीय परंपरा, यह हमारी संस्कृति हमें विरासत में मिली है. किसी भी जीवन-समाज की पहचान होती है उसका आत्म सुधार तंत्र.

बिहार की तारीफ

सामाजिक कुप्रथाओं और कुरीतियों के ख़िलाफ सदियों से हमारे देश में व्यक्तिगत और सामाजिक स्तर पर लगातार प्रयास होते रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अभी कुछ दिन पहले बिहार ने एक रोचक पहल की. राज्य में सामाजिक कुरीतियों को जड़ से मिटाने के लिए 13 हज़ार से अधिक किलोमीटर की विश्व की सबसे लंबी मानव-शृंखला, बनायी गयी. इस अभियान के द्वारा लोगों को बाल-विवाह और दहेज़-प्रथा जैसी बुराइयों के खिलाफ़ जागरूक किया गया. दहेज़ और बाल-विवाह जैसी कुरीतियों से पूरे राज्य ने लड़ने का संकल्प लिया. उन्होंने कहा कि इसके लिए वहां के मुख्यमंत्री, जनता व सभी जन प्रशंसा के पात्र हैं.

बिहार की तारीफ

प्रधानमंत्री ने कहा कि समाज के सभी लोगों को सही मायने में विकास का लाभ मिले इसके लिए ज़रूरी है कि हमारा समाज इन कुरीतियों से मुक्त हो. आइये हम सब मिलकर ऐसी कुरीतियों को समाज से ख़त्म करने की प्रतिज्ञा लें और ‘ न्यू इंडिया' एक सशक्त एवं समर्थ भारत का निर्माण करें. उन्होंने कहा कि दो दिन पूर्व ही हमने गणतंत्र पर्व को बहुत ही उत्साह के साथ और इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ कि 10 देशों के मुखिया इस समारोह में उपस्थित रहे. उन्होंने कहा कि अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला ने नारी शक्ति को नयी ऊंचाई दी. नारी शक्ति देश, समाज को हमेशा एकता के सूत्र में बांधती है. नारी शक्ति हमेशा प्रेरित करती आयी है.

एक बेटी दस बेटे के बराबर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पुराणों में कहा गया है कि एक बेटी दस बेटे के बराबर है. मोदी ने कहा कि आज हम ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' की बात करते हैं लेकिन सदियों पहले हमारे शास्त्रों में, स्कंद-पुराण में इसके बारे में कहा गया है. चाहे वैदिक काल की विदुषियां लोपामुद्रा, गार्गी, मैत्रेयी की विद्वता हो या अक्का महादेवी और मीराबाई का ज्ञान और भक्ति हो, चाहे अहिल्याबाई होलकर की शासन व्यवस्था हो या रानी लक्ष्मीबाई की वीरता, नारी शक्ति हमेशा हमें प्रेरित करती आयी है. मोदी ने कहा कि सशक्तीकरण आत्मनिर्भरता का ही एक रूप है. हर क्षेत्र में ‘लेडीज फर्स्ट' हमारी नारी-शक्तियों ने समाज की रूढ़िवादिता को तोड़ते हुए असाधारण उपलब्धियाँ हासिल की, एक कीर्तिमान स्थापित किया. प्रधानमंत्री ने इस संबंध में सुखोई विमान में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के उड़ान भरने, तीन बहादुर महिलाएँ भावना कंठ, मोहना सिंह और अवनी चतुर्वेदी फाइटर्स पायलट बनने, क्षमता वाजपेयी की अगुवाई वाली पूर्ण महिला चालक दल के दिल्ली से अमेरिका के सॉन फ्रांसिस्को और वापस दिल्ली तक एयर इंडिया बोइंग जेट से उड़ान भर