Yo Diary

Offer Price 98/-

बिहार : वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव में बोले केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, देश से नक्सलवाद होकर रहेग

पटना : केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने नक्सलवाद और नक्सली नेताओं को गरीबों का दुश्मन करार दिया और कहा कि देश से नक्सलवाद समाप्त होकर रहेगा. रविवार को मिलर स्कूल मैदान में भाजपा की ओर से आयोजित वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव में उन्होंने कहा कि नक्सली नेता गरीबों का खून चूसते हैं. गरीबों की हितैषी बनने का नाटक करने वाले नक्सली विकास में बाधा उत्पन्न करते हैं. वे अपने बाल-बच्चों को विदेश में पढ़ाई कराने और उन्हें धनवान बनाने

में लगे हुए हैं और गरीबों को केवल बरगला रहे हैं. राजनाथ सिंह ने सामाजिक समरसता पर जोर देते हुए कहा कि सुरक्षा बल देश की खातिर लड़ रहे हैं, जबकि हम आपस में लड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान भी रास्ते पर आयेगा. दुनिया की कोई भी ताकत भारत को हिला नहीं सकती. उन्होंने वीर कुंवर सिंह को याद करते हुए कहा कि वे प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के सेनानी थे. मंगल पांडेय की चिनगारी को उन्होंने शोला में बदल दिया. उन्होंने देश के लिए लड़ा. लेकिन आज देश में कुछ ऐसी ताकतें हैं जो सामाजिक समरसता को तार-तार करने की कोशिश कर रही हैं.

देश को तोड़ना चाहती हैं. मजहब, जाति,पंथ के आधार पर समाज को बांटने का प्रयास किया जा रहा है. ऐसे में देश के नौजवानों को ऐसी ताकतों से होशियार रहना होगा. ऐसी ताकतों को उन्हें मिलकर जवाब देना चाहिए. अपना देश वसुदैव कुटुंबकम् का संदेश देने वाला है. राजनाथ सिंह ने कहा कि जब भी जरूरत पड़ी, देश के किसानों ने आगे बढ़कर साथ दिया. चंपारण आंदोलन में भी किसानों ने ही आगे बढ़कर गांधी जी का साथ दिया था. किसानों ने जब भी करवट बदली, देश की दिशा बदल गयी. उन्होंने कहा कि स्वाभिमान से कभी समझौता नहीं होगा. विदेशी ताकतें हमारी सीमा पर नजर लगाये हुई हैं. हमारे सुरक्षा बल उनका मुंहतोड़ जबाब दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि अपने अंदर के राष्ट्रीय स्वाभिमान को जगाना होगा. सामाजिक समरसता से ही अपनी सुरक्षा मजबूत होगी. भारत गुलाम बनकर जी नहीं सकता.

कार्यक्रम की अध्यक्षता भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने की. कार्यक्रम को उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे व रामकृपाल यादव, पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने भी संबोधित किया. धन्यवाद ज्ञापन विधायक नीरज बबलू ने किया. इधर, राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने केंद्रीय गृृह मंत्री राजनाथ सिंह को चाय पर राजभवन आमंत्रित किया था. राज्यपाल ने गृृह मंत्री को अंगवस्त्र एवं स्मृृति चिह्न भेंट किया. वहीं, गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मेघालय के राज्यपाल गंगा प्रसाद के आवास पर भी गये. जहां दोनों की मुलाकात हुई. यहां गृह मंत्री से दीघा संघर्ष समिति के लोग भी मिले और अपनी मांगें रखीं.

गढ़चिरौली : महाराष्ट्र के गढ़चिरौली क्षेत्र में पुलिस ने एक एंटी नक्सल ऑपरेशन के दौरान 14 नक्सलियों को मार गिराया. इसे महाराष्ट्र में चार साल में नक्सलियों के खिलाफ सबसे बड़ी कार्रवाई माना जा रहा है. तीन अप्रैल को भी महाराष्ट्र पुलिस ने एनकाउंटर में तीन नक्सलियों को मार गिराया था. पुलिस महानिरीक्षक शरद शेलार ने बताया कि गढ़चिरौली पुलिस की विशेष लड़ाकू इकाई सी-60 के कमांडो की एक टीम ने रविवार की सुबह भामरगढ़ के तडगांव जंगल में यह अभियान शुरू किया, जो देर रात तक जारी रहा. तलाशी के दौरान 12 से अधिक नक्सलियों के शव मुठभेड़ स्थल से बरामद किये गये. इसमें मारे गये नक्सलियों में प्रतिबंधित संगठन के दो जिला स्तरीय कमांडर साईनाथ और सिनू उर्फ श्रीकांत शामिल हैं. इधर, गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़णवीस से बात कर गढ़चिरौली जिले में सुरक्षा स्थिति की जानकारी ली. करीब एक महीने से महाराष्ट्र पुलिस राज्य के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सक्रिय नक्सलियों के खिलाफ अभियान चला रही थी.

नयी दिल्ली : नक्सली नेताओं और उनसे सहानुभूति रखने वाले लोगों पर नजर रखने के लिए एनआइए की एक विशिष्ट शाखा गठित की जा रही है. गृह मंत्रालय ने इसकी मंजूरी दे दी है. कश्मीरी में आतंकियों को धन मुहैया कराने वालों की एनआइए जांच के बाद यह कदम उठाया गया है. गृह मंत्रालय के मुताबिक यह शाखा आतंकवाद को वित्त पोषण और नक्सलियों के धन शोधन मामलों पर नजर रखेगी. साथ ही नक्सली नेता और उनसे सहानुभूति रखने वाले लोगों पर भी पैनी नजर रखेगी. दरअसल, सरकार को सूचना मिली है कि कई नक्सली बड़े पैमाने पर धन शोधन के मामलों में संलिप्त हैं और इसमें कई सफेदपोश शामिल हैं.